[pali] - जागो जिम्मेदारों, फिर से नहीं बुझ जाए किसी घर का दीपक

  |   Palinews

पाली. बरसात के साथ शहर में पैदा हो रहे खतरे को जिम्मेदार भांप नहीं पा रहे है। शहर में जिम्मेदारों की नजरों में वह स्थान आ ही नहीं रहे है। जिन स्थानों ने कई घरों के दीपक बुझा दिए है। इन जगहों को देखकर कई परिवार का दर्द हरा हो जाता है। जिन्होने असमय ही अपनों को खोने का दर्द झेला है। दरअसल, शहर में बरसात के बाद आस-पास के क्षेत्रों में कई बरसाती गड्ढें पूरी तरह पानी से भर चुके है। इस मौसम में मौज मस्ती के चक्कर में मासूम बच्चे व बड़े भी इन गड्ढों में उतर जाते है। कई बार यह गड्ढें लोगों के लिए जानलेवा साबीत हुए है। पिछले तीन सालों की बात करें तो ऐसे ही गड्ढों में डूबने से शहर में 20 से ज्यादा मौत हो चुकी है। लेकिन, इसके बाद भी जिम्मेदारी की आंखें नहीं खुल रही है। आज भी इन गड्ढों के बाहर किसी प्रकार की चेतावनी लिखी गई है। और न ही इसमें उतरने वाले लोगों को रोकने के लिए कोई प्रयास।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/XGJVqQAA

📲 Get Pali News on Whatsapp 💬