[sheopur] - फिर खुली विकास कार्यों की पोल, तिरपाल लगाकर किया अंतिम संस्कार

  |   Sheopurnews

श्योपुर । मानवीय संवेदनाओं को तार तार करने वाली एक घटना शनिवार की शाम बड़ौदा तहसील के पनवाड़ गांव में देखने को मिली। जहां एक वृद्ध महिला का अंतिम संस्कार करने के लिए परिजनों ने दो घंटे इंतजार किया और जब बारिश नहीं रुकी तो तिरपाल तानकर अंतिम संस्कार करने को विवश हुए।

जिसको लेकर लोगों ने जिम्मेदारों को जमकर कोसा। खासबात यह है कि मुक्तिधाम में सुविधा अभाव के चलते पनवाड़ में बनी यह स्थिति कोई नई नहीं है। बल्कि करीब आधा सैकड़ा गांव के मुक्तिधामों के यही हाल हैं। कहीं पर अंतिम संस्कार के लिए लोगों को कीचड़ से होकर जाना पड़ रहा है, तो कहीं पर बारिश के बीच शव का अंतिम संस्कार करने के लिए घी-शक्कर डालना पड़ रही है। हद तो यह है कि बारिश से आग के बुझने पर दो दो बार चिता को अग्नि देने और केरोसिन डालकर चिता चेताने जैसी घटनाएं भी यहां घटित हो रही हैं, मगर जिम्मेदार मौन बने हुए हैं। जबकि ग्रामीणजन कई कई दफा इन स्थितियों को लेकर शिकायत कर आए हैं।...

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/P-5M8AAA

📲 Get Sheopur News on Whatsapp 💬