[jaipur] - छ: जिला अधिकारियों को नोटिस

  |   Jaipurnews

अनुसूचित जाति उत्तर मैट्रिक छात्रवृति योजना के आवेदन पत्रों को निस्तारण मे उदासीनता बरतने वाले अधिकारियों के खिलाफ विभाग ने सख्ती दिखाते हुए कारण बताओ नोटिस जारी किया है। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के निदेशक समित शर्मा ने बताया की योजना के लिए बजट उपलब्ध होने के बाद भी भुगतान नहीं किये जाने के कारण विभाग के 6 जिला अधिकारियों को नोटिस जारी किया गया है। करौली, नागौर, हनुमानगढ, अजमेर, पाली एवं सवाईमाधोपुर जिलाधिकारियों को कारण बताओ नोटिस जारी करते हुए अन्य जिला अधिकारियों को निर्देश दिये है कि भविष्य में छात्रवृतियों के आवेदन पत्रों का समय पर निस्तारण करें।

वार्डनों को भी नोटिससामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के निदेशक समित शर्मा ने बताया की छात्रावासों में क्षमतानुसार 50 प्रतिशत से कम प्रवेश दिलाने वाले 8 वार्डनों को कारण बताओं नोटिस दिया गया है। शैक्षणिक सत्र 2018-19 में स्वीकृत क्षमता के विरूद्ध कम प्रवेश करने वाले 8 छात्रावास अधीक्षकों को नोटिस जारी कर 15 दिन में स्पष्टीकरण प्रस्तुत करने के निर्देश दिये है। समय सीमा में स्पष्टीकरण नहीं किये जाने पर नियमानुसार 17सीसीए के तहत अनुशासनात्मक कार्यवाही की जाऐगी।डॉ. शर्मा ने छात्रावास अधीक्षक नीलम कुमारी, काला कुंआ, अलवर, रेखा चौधरी, धौलपुर, प्रदीप कुमार शर्मा, चित्तौड़गढ, सुमन चौधरी, सुमेरपुर-पाली, गौतम निमाज-पाली, शंकरलाल मीना, राजसमन्द एवं अशोक कुमार कोटा को कारण बताओं नोटिस जारी किया गया है। उन्होनें सभी छात्रावास अधीक्षकों को निर्देश दिये कि सभी छात्रावासों में क्षमता के अनुसार शत-प्रतिशत बच्चों का प्रवेश सुनिश्चित किया जाऐ।

सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग की उत्तर मैट्रिक छात्रवृत्ति योजना में 2016 -17 में आक्षेपाें की पूर्ति नहीं होने के कारण 98 हजार छात्रवृत्ति आवेदन पत्र लंबित हैं। विभाग द्वारा लंबित आक्षेपाें और कमियों की पूर्ति करने के लिए विद्यार्थियों तथा शिक्षण संस्थाओं को 30 जून तक का अंतिम अवसर दिया गया है, जिससे विद्यार्थी और शिक्षण संस्थान स्तर पर लंबित आक्षेपों को दुरुस्त कर विभाग के स्वीकृतिकर्ता अधिकारियों को भिजवाया जा सकेगा।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/sVV8zQAA

📲 Get Jaipur News on Whatsapp 💬