[jharkhand] - भूमि संशोधन विधेयक, सीएनटी-एसपीटी एक्ट में संशोधन और स्थानीय नीति झारखंडी जनभावना के खिलाफ : सुदेश

  |   Jharkhandnews

रांची.आजसू सुप्रीमो सुदेश महतो ने कहा कि जनभावना के अनादर से अराजकता पैदा होगी। राज्य सरकार द्वारा किया गया भूमि संशोधन विधेयक, सीएनटी-एसपीटी एक्ट में संशोधन और स्थानीय नीति झारखंडी जनभावना के खिलाफ है। संघर्ष और बलिदान से बना राज्य अवसरवादियों के स्वार्थ का शिकार हो रहा है। ऐसे लोग स्वार्थ की राजनीति में जनता को भरमाने का प्रयास कर रहे हैं। इन कोशिशों को नाकाम करना होगा। सुदेश महतो आजसू का स्थापना दिवस के अवसर पर सोनाहातू और इचागढ़ विधानसभा में संकल्प सभा को संबोधित कर रहे थे। शुक्रवार को आजसू पार्टी ने पूरे राज्य में संकल्प दिवस के रूप में मनाया गया। सभी 81 विधानसभा में समारोह सभा आयोजित कर संकल्प दिवस मनाया गया। राज्य की मौजूदा हालात पर चिंतन का समय

सुदेश महतो ने कहा कि राज्य की मौजूदा हालात पर चिंतन-मनन का समय आ गया है। राज्य के वर्तमान हालात को बदलने के लिए सभी को आगे आना होगा। राज्य के निर्माण में जिन शहीदों ने कुर्बानियां दी, उन शहीदों के खून का एक-एक कतरा आज सभी राज्यवासियों पर कर्ज है। अलग राज्य अगर हमारे संघर्ष से हासिल हुआ है, तो इसे संवारने का काम भी हमें ही करना होगा। राज्य की मर्यादा और जनमत की सुरक्षा का दायित्व लेने का संकल्प के साथ-साथ वैचारिक मूल्यों को बचाने का संकल्प लेना होगा। सरकार को संवेदनशील मुद्दों पर गंभीर होना होगा। भूमि संशोधन बिल पर सरकार बुलाए सर्वदलीय बैठक

सुदेश महतो ने कहा कि आजसू पार्टी का भूमि संशोधन विधेयक को लेकर पहले और आज भी कड़ा विरोध है। विधेयक में संशोधन के पहल पर कार्य करने की जरूरत है। केन्द्रीय गृह मंत्रालय एवं कृषि मंत्रालय ने भी इस नीति को समर्थन नहीं किया है। सरकार इस विषय पर सर्वदलीय एवं सामाजिक संगठनों के साथ बैठक कर इस संशोधन की पुनर्समीक्षा करे। तृतीय एवं चतुर्थ वर्गीय नौकरियों में केवल आदिवासी-मूलवासियों का हक

सुदेश कुमार महतो ने कहा कि झारखंड में तृतीय और चतुर्थ वर्गीय नौकरियों में केवल और केवल आदिवासी-मूलवासियों का हक है। स्थानीय नीति पर भी कतिपय संशोधनों के बाबत सरकार का फैसला आ चुका है। परंतु इसमें और भी संशोधन की जरूरत है। महागठबंधन पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि वर्तमान में कई दल तथा राजनेता लोगों में भ्रम फैलाने में जुटे हैं। राज्य के भोले-भाले आदिवासी-मूलवासी के चौकीदार बनकर उन्हें ही लुटने में लगे हुए सीएनटी-एसपीटी एक्ट की सुरक्षा की वकालत करने वाले अवसरवादी राजनेताओं को बताना चाहिए कि उन्होंने कहां-कहां इसकी सीमाओं को सीमाओं का उल्लंघन किया है। मंत्री, विधायक और पार्टी पदाधिकारी शामिल हुए संकल्प सभा में

संकल्प दिवस के मौके पर मंत्री चन्द्रप्रकाश चौधरी रामगढ़ में, विधायक रामचन्द्र सहिस जुगसलाई में, विधायक राजकिशोर महतो टुंडी में, विकास मुंडा तमाड़ में, पूर्व मंत्री उमाकांत रजक चंदनकियारी में, लंबोदर महतो गोमिया में, रौशनलाल चौधरी बड़कागांव में, दामोदर महतो डुमरी में, मंटू महतो सिंदरी में, डा देवशरण भगत खिजरी में, राजेंद्र मेहता हटिया में, ललित ओझा रांची में, विकास राणा हजारीबाग में संकल्प सभा में शामिल हुए।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/U776WgAA

📲 Get Jharkhand News on Whatsapp 💬