[jodhpur] - जोधपुर में दिखा सियासी उबाल, मंत्री शेखावत के समर्थन में नारे देख मुख्यमंत्री ने मंच पर कह डाली ये बात

  |   Jodhpurnews

जोधपुर. सूर्यनगरी में चुनावी बिगुल फूंकने आई मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और केंद्रीय कृषि एवं कल्याण मंत्री और सांसद गजेंद्र सिंह शेखावत के बीच की रार की चर्चा पहले ही सियासत के गलियारों में सुनने को मिल रही है। हालांकि अपने दो दिवसीय दौरे पर जोधपुर आईं मुख्यमंत्री राजे की अगवानी करने आए सांसद शेखावत को देख इस बात को विराम लग गया। दोनों के बीच की स्थितियां सामान्य दिखने लगीं। लेकिन शुक्रवार को लोकतंत्र रक्षा मंच की ओर से आयोजित कार्यक्रम में दोनों के बीच की खींचतान आखिर सामने आ ही गई। हुआ यूं कि कार्यक्रम के दौरान अपना उद्बोधन देने के लिए उठे सांसद शेखावत को देख उनके समर्थन में नारे लगे और संपूर्ण पांडाल तालियों की गडगड़़ाहट से गूंज उठा। उद्बोधन देने के ठीक पहले मुख्यमंत्री ने केंद्रीय कृषि व कल्याण मंत्री शेखावत से कहा कि क्या आप भी लोकतंत्र सेनानी रहे हैं? इस पर शेखावत ने कहा कि उस दौरान उनकी उम्र महज चार या पांच साल की थी। इस पर मुख्यमंत्री ने कहा कि फिर आपको सेनानी कैसे मान लिया जाए? सांसद शेखावत ने मुख्यमंत्री की इस बात को हंस कर टाल दिया।

कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि चुनावी बिगुल बज चुका है अब बारी आपकी है। अपनी कमर कस लें और बाहें ऊपर चढ़ा कर फील्ड में निकलकर लोगों को सरकार द्वारा किए गए कार्यों के बारे में बताएं। अवसर पर आपातकाल के दौरान के संघर्ष करने वालों को सम्मानित किया गया। साथ ही सरकारी योजनाएं गिनाकर वोट बैंक मजबूत करने का दावा भी किया। कार्यक्रम में उन्होंने लोकतंत्र रक्षा मंच के प्रदेश अध्यक्ष और राजस्थान सरकार में पूर्व मंत्री राजेंद्र गहलोत पर व्यंग भी कसा।

वकीलों से मुलाकात कर दिया सकारात्मक संदेश

जोधपुर में अपने दो दिवसीय दौरे के दूसरे दिन मुख्यमंत्री से मिलने वालों का तांता लगा रहा। सुबह होटल अजीत भवन के बाहर राजकीय माध्यमिक विद्यालय महलों की ढाणी झालामंड को क्रमोन्नत करने की मांग को लेकर छात्राओं ने धरना दिया। होटल के बाहर पुलिस जाप्ता तैनात होने के कारण यहां रुकने वाले सैलानियों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा। इस दौरान पिछले 32 दिनों से उदयपुर में हाईकोर्ट की सर्किट ब्रांच के विरोध में आंदोलनरत अधिवक्ताओं के प्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्री से मुलाकात की। जानकारी के अनुसार मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया के साथ वकीलों के दोनों संगठनों के अध्यक्ष तथा अन्य सदस्यों के साथ सकारात्मक वार्ता हुई है। प्रतिनिधि मंडल में शामिल उपाध्यक्ष कपिल बोहरा ने बताया कि उदयपुर में हाईकोर्ट की सर्किट बैंच बनाने के लिए बनी समिति पर चर्चा की गई है। मुख्यमंत्री ने आश्वस्त किया है कि जोधपुर की शान से कोई समझोता नहीं किया जाएगा। इसके बाद मुख्यमंत्री उम्मेद उद्यान स्थित म्यूजियम का निरीक्षण किया। फिर मेडिकल कॉलेज सभागार में लोकतंत्र रक्षा मंच के कार्यक्रम में हिस्सा लेकर वापस रवाना हो गईं।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/IYMqFgAA

📲 Get Jodhpur News on Whatsapp 💬