[kota] - क्या चमकेगी कोटा की किस्मत ? फैसला कल

  |   Kotanews

कोटा। केन्द्रीय शहरी विकास मंत्रालय की ओर से राष्ट्रीय स्वच्छता सर्वेक्षण की रैंकिंग शनिवार को जारी की जाएगी। स्वच्छता की दौड़ में इस बार देशभर के 4041 शहर शामिल है।

नगर निगम ने इस बार सफाई व्यवस्था सुधारने के लिए कई नए प्रयास शुरू किए हैं। इसमें मुख्यतया डोर टू डोर कचरा संग्रहण, सफाई कर्मचारियों की बायोमैट्रिक मशीन से उपस्थिति दर्ज करना, बैंक खातों से भुगतान करने जैसे अहम निर्णयाों की क्रियान्विति की है। साथ ही स्वच्छता जागरुकता के लिए कोटा व्यापार महासंघ के साथ मिलकर शहरभर में जागरुकता अभियान भी चलाया था। इसलिए सफाई में कोटा की रैकिंग में सुधार की संभावना है। महासंघ के महासचिव अशोक माहेश्वरी का कहना है कि राजस्थान पत्रिका की स्वच्छ कोटा-स्वस्थ कोटा मुहिम के तहत शहर के व्यापारियों को दस हजार डस्टबिन वितरित किए गए थे।

कचरा डस्टबिन में ही डालने के लिए प्रेरित किया गया था। पिछले स्वच्छता सर्वेक्षण में 500 शहरों में से कोटा 341 पायदान पर रहा था। पत्रिका ने शहर में स्वच्छता के प्रति लोगों को जागरुक करने के लिए व्यापक स्तर पर अभियान चलाया था, जिसमें महासंघ व जनरल मर्चेन्ट्स एसोसिएशन के साथ दस हजार व्यापारियों को स्वच्छता की शपथ भी दिलाई थी।

कोटा को प्रधानमंत्री नवाजेंगे

राष्ट्रीय स्वच्छता सर्वेक्षण की सिटीजन फीडबैक श्रेणी में कोटा देश में अव्वल रहा है। प्रधानमंत्री शनिवार को इंदौर में आयोजित समारोह में कोटा नगर निगम को यह पुरस्कार प्रदान करेंगे। महापौर महेश विजय और उपायुक्त राजेश डागा यह पुरस्कार ग्रहण करेंगे।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/a4VLKgAA

📲 Get Kota News on Whatsapp 💬