[pratapgarh-rajasthan] - भाजपा के बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ प्रकल्प की बैठक

  |   Pratapgarh-Rajasthannews

भाजपा के बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ प्रकल्प की बैठक प्रतापगढ़ भारतीय जनता पार्टी के बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ प्रकल्प की जिला बैठक प्रकल्प की प्रदेश प्रमुख डॉ. मीना आशोपा के मुख्य आतिथ्य में हुई। प्रकल्प की जिले की एम्बेसडर एवं प्रतापगढ़ की जिला प्रमुख सारिका मीणा ने अध्यक्षता की। भाजपा जिला अध्यक्ष धनराज शर्मा, महिला मोर्चा जिला अध्यक्ष कांता जैन, कोटा संभाग की प्रभारी विजय लक्ष्मी एवं उदयपुर संभाग प्रभारी मंजू शर्मा के विशिष्ट आतिथ्य में प्रकल्प की जिला कार्यकारिणी के पदाधिकारियों एवं विशेष आमंत्रित सदस्य की उपस्थिति में स्थानीय दिपैश्वर महादेव मंदिर प्रांगण में आयोजित की गई। भाजपा महिला मोर्चा की जिला मीडिया प्रभारी गायत्री शर्मा ने बताया कि बैठक में विशेष रूप से कन्या भ्रूण हत्या रोकने के लिए और अधिक प्रयास किए जाने पर बल दिया। जिला प्रमुख सारिका मीणा ने बेटियों को बचाने, बढ़ाने एवं पढ़ाने का तीन सूत्रीय मन्त्र देते हुए बालिकाओं के स्वास्थ्य, शिक्षण एवं पोषण पर विशेष ध्यान दिए जाने की आवश्यकता पर बल दिया। भाजपा जिलाध्यक्ष धनराज शर्मा ने कहा कि अज्ञानता वश झूठे दम्भ में आकर मदान्ध पुरुष समाज महिलाओं पर अत्याचार कर आजकल भ्रूण हत्या जैसा महापाप करते समय यह भूल जाता है कि उसके द्वारा आज किया जाने वाला यह महापाप सम्पूर्ण मानव समाज को विनाश की ओर ले जा रहा है।इस अवसर पर भाजपा महिला मोर्चा जिला महामंत्री सुनयना हापावत, नगर अध्यक्ष ललिता गांधी, समाज सेविका नूतन भट्ट, कोषाध्यक्ष अनीता डांगी, पूर्व पार्षद कांता जटिया, देवगढ़ मंडल अध्यक्ष प्रेमकुंवर, छोटीसादड़ी से लक्ष्मी गुर्जर, भगवती पारीक, किरण बंबोरी, पंडावा से सरपंच नाथी देवी आदि मौजूद थे। =============================================================42 वर्षो बाद तीन भाईयो में भूमि विवाद हुआ खत्म-न्याय आपके द्वार के तहत की समझाईशप्रतापगढ़.राजस्व लोक अदालत अभियान न्याय आपके द्वार प्रतापगढ़ जिले के तीन भाईयो के लिए खुशी भरा रहा। अभियान के तहत लगे शिविर में समझाईश से तीन भाईयो के बीच पिछले 42 वर्षो से चले आ रहे भूमि विवाद को खत्म किया गया। अभियान के तहत प्रतापगढ़ तहसील के डाबड़ा ग्राम पंचायत में आयोजित न्याय आपके द्वार शिविर में भूमि विवाद को लेकर तीन सगे भाई भुवान, शंकरलाल एवं केसुराम गायरी पहुंचे। उन्होंने शिविर प्रभारी उपखण्ड अधिकारी को आवेदन पत्र देकर समस्या से अवगत कराया। उपखंड अधिकारी ने पटवारी सहित अधिकारियों से जानकारी एकत्रित की ओर तीनो भाईयो की आपसी सहमति व समझाईश से 42 वर्षो से चला आ रहा भूमि विवाद हल हो गया। उपखण्ड अधिकारी ने बताया कि इन तीन भाईयो के बीच भूमि विवाद के कारण पिछले 42 वर्षो से बातचीत भी बंद थी। तहसीलदार योगेन्द्र जैन एवं विकास अधिकारी अनिल पहाडिय़ा सहित जनप्रतिनिधियो ने आपसी समझाईश से भूमि बंटवारा कर राजीनामा करवाया गया। आपसी सहमति के आधार पर भूमि बंटवारे के बाद तीनो भाईयो ने एक दूसरे को गले लगाकर मुंह मीठा करवाया, खुशी के इस वक्त पर तीनों भाईयो की आंखों से खुशी के आंसू छलक पड़े।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/E_JhxQAA

📲 Get Pratapgarh Rajasthan News on Whatsapp 💬