[sikar] - पैदल चलते बच्चों का दर्द देखकर इस शख्स ने उठाया ये कदम

  |   Sikarnews

सीकर. जीपों से आए दिन होते हादसों व गर्मी में पैदल चलते बच्चों का दर्द देखकर एक जने का मन इतना व्यथित हुआ कि उसने बस ही सरकारी विद्यालय को दान कर दी। सीकर जिले के पलथाना के राजकीय आदर्श उच्च माध्यमिक विद्यालय में अनेक बच्चे पैदल ही स्कूल आते हैं। शेखावाटी की गर्मी में जब छांव में ही गर्मी पसीने छुड़ाने लग जाती है ऐसे में पैदल चलना तो और भी मुश्किल हो जाता है। मासूमों की तो गर्मी में हालत और भी खराब हो जाती है। कुछ ऐसी ही परेशानी सूरत में व्यापार कर रहे पलथाना के रहने वाले गिरवर सिंह शेखावत ने देखी तो उनका मन व्यथित हो गया। वे स्कूल पहुंचे और बच्चों की पीड़ा देखते हुए बस दान करने की घोषणा कर दी। गिरवर सिंह के अनुसार वे खुद ग्रामीण क्षेत्र के हैं। वे बच्चों की मजबूरी अच्छी तरह से जानते हैं। इसके अलावा ग्रामीणों व स्कूल के स्टाफ ने बच्चों को लाने के लिए दो जीप लगा रखी थी, लेकिन जीपों से आए दिन हादसे होने की आशंका रहती है। इस कारण उन्होंने बस दान करने की ठानी है।

आज कार्यक्रमशिक्षक उपेन्द्र शर्मा ने बताया कि राजकीय आदर्श उमावि पलथाना में शुक्रवार सुबह साढ़े आठ बजे से समारोह होगा। समारोह में गिरवर सिंह मुख्य अतिथि शिक्षा विभाग के उप निदेशक महेन्द्र सिंह चौधरी व जिला शिक्षा अधिकारी जगदीश प्रसाद शर्मा को बस की चाबी सौंपेंगे। इसी दिन प्रवेशोत्सव मनाया जाएगा। गांव में डीजे के साथ रैली निकाली जाएगी। 232 विद्यार्थियों के नामांकन वाले इस विद्यालय का दसवीं व बारहवीं उत्तीर्ण करने वाले प्रतिभावान विद्यार्थियों का सम्मान भी किया जाएगा।

ग्रामीण उठाएंगे खर्चाबस में डीजल, चालक व खलासी का खर्चा ग्रामीण व एसडीएमसी वहन करेगी। इसके लिए ग्रामीण तैयार भी हो गए हैं। स्कूल स्टाफ का कहना है कि अभी विद्यालय में 232 का नामांकन है, उसे इस वर्ष 300 करने का लक्ष्य है। ग्रामीणों व स्टाफ के सहयोग से इस लक्ष्य को हर हाल में पूरा कर लिया जाएगा।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/S4LpKQAA

📲 Get Sikar News on Whatsapp 💬