[udaipur] - Sohrabuddin-Tulsi Encounter : गवाहों नेे कहा, अंग्रेजी में लिखे कुछ कागजों पर हस्ताक्षर करवाए और रिपोर्ट भी पढकऱ नहीं सुनाई

  |   Udaipurnews

उदयपुर . सोहराबुद्दीन-तुलसी एनकाउंटर केस में गुरुवार को मुम्बई में सीबीआई की स्पेशल कोर्ट में दो गवाहों के बयान हुए, जिन्होंने कहा कि उनसे अंग्रेजी में लिखे कुछ कागजों पर हस्ताक्षर करवाए गए और ना ही रिपोर्ट उन्हें पढकऱ सुनाई गई। हालांकि उन्होंने तुलसी के फरार होते समय ट्रेक पर मिले मोबाइल, फर्द रिपोर्ट व पंचनामे पर उनके हस्ताक्षर की पहचान जरूर की। एक गवाह ने इस बात से भी इंकार किया कि उसने राजस्थान पुलिस के लिए पालनपुर तक किसी गाड़ी की व्यवस्था की थी। गवाह बसंत भाई ने कोर्ट को बताया कि 2006 में हम्मतनगर रेलवे स्टेशन पर उनका पार्किंग का ठेका था। घटना के दिन दोपहर डेढ़-दो बजे उन्हें जीआरपी चौकी पर बुलाया। वे पहुंचे तब जीआरपी अधिकारी और राजस्थान पुलिस के अधिकारी मौजूद थे। टेबल पर एक मोबाइल रखा हुआ था। जीआरपी अधिकारी ने बताया कि यह मोबाइल मुकदमे में सील करना है और मुझे इसके पंच में रहना है। रेलवे स्टेशन के बाहर फल का ठेला लगाने वाले कल्याण सिंह के भी बयान हुए। दोनों ने सील्ड मोबाइल, फर्द रिपोर्ट और पंचनामे पर स्वयं के हस्ताक्षर की पहचान की। बसंत भाई ने बताया कि उन्होंने कभी गाड़ी किराए पर देने का कार्य ही नहीं किया। किसी भी गाड़ी के लिए उनके पास जीआरपी कांस्टेबल प्रतापभाई का कभी फोन नहीं आया और ना ही वह उसे पहचानता है। ऐसे में पालनपुर के लिए कार देने का सवाल ही नहीं बनता। इस पर सीबीआई ने उसे होस्टाइल कर लिया। सीबीआई ने चार्जशीट में बताया कि तुलसी के एनकांउटर से पहले जीआरपी पुलिस ने राजस्थान पुलिस को एक कार व्यवस्था कर दी थी ताकि वे पालनपुर पहुंच सके।

प्रताडऩा व धमकाने का आरोप, मामला दर्जघासा. घासा पुलिस थाना क्षेत्र में गुरुवार को एक युवती ने बैंक कर्मचारी के खिलाफ उसे परेशान करने व धमकाने का आरोप लगाते हुए रिपोर्ट दी है। कविता पुत्री शंकरलाल सुथार उदित नामक के खिलाफ मामला दर्ज कराया। पुलिस ने धारा 354 के तहत मामला दर्ज कर जांच प्रारंभ कर दी है।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/xmb-qQAA

📲 Get Udaipur News on Whatsapp 💬