[uttar-pradesh] - यूपी में प्रतियोगी परीक्षाओं का हाल, कहीं बदले पेपर तो कहीं बिना परीक्षा के ही मिल गए नम्बर

  |   Uttar-Pradeshnews

केस एक- कुछ दिन पहलेजैसी बड़ी प्रतियोगी परीक्षा में पेपर होना था सामान्य हिन्दी का और प्रश्न पत्र बांट दिया गया हिन्दी निबंध का. उस पर दलील ये दी गई कि अब जो पेपर खुल गया है उसी को हल कर लो.केस दो- पिछले हफ्तेसिपाही भर्ती परीक्षा आयोजित की गई थी. परीक्षा दो दिन दो पालियों में कराई गई थी. हैरान करने वाली बात ये है कि दो जिलों में जो सवाल पहली पाली में पूछे गए थे वहीं सवाल दूसरी पाली में भी दोहरा दिए गए.केस तीन- आगरा के डॉ. भीमराव अंबेडकर विश्वद्वालय का ये कारनामा बड़ा ही रोचक है. बीएससी पार्ट वन के जिन छात्रों ने एक खास विषय की प्रेक्टिकल परीक्षा दी ही नहीं उन्हें उस विषय में 50 में से 68 और 70 नम्बर तक दे दिए गए.ये तीनों केस इस ओर इशारा कर रहे हैं कि यूपी की शिक्षा व्यवस्था में सब कुछ ठीक-ठाक नहीं चल रहा है. इस तरह की लापरवाही के बारे में जब संबंधित अधिकारियों से बात की गई तो आयोग ने पीसीएस की परीक्षा ही दोबारा कराने की बात कह दी. जबकि पुलिस के अधिकारी इस तरह की लापरवाही होने से ही इंकार कर रहे हैं.

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/ONdxJwAA

📲 Get uttar-radeshnews on Whatsapp 💬