👉 नियम ताक पर रख एक घंटे ⏰ में बना दिया पासपोर्ट📕

  |   समाचार / Lucknownews

ऊपर से आदेश क्या आया अधिकारियों ने बिना किसी जांच पड़ताल के एक घंटे में अन्तरजातीय विवाह करने वाले दंपति का पासपोर्ट जारी कर दिया। वहीं बिना सत्यापन के बाद जारी किया गया तन्वी सेठ का पासपोर्ट पोस्ट वेरीफिकेशन के बाद जब्त हो सकता है।

जानकारों की मानें तो क्षेत्रीय पासपोर्ट अधिकारी विशेषाधिकार का प्रयोग कर पोस्ट वेरीफिकेशन क्लॉज के तहत पासपोर्ट जारी कर सकता है। लेकिन इसके बावजूद आवेदन के समय वर्तमान पते के साथ स्थायी पता भी दिया जाता है। ऐसे में जब तन्वी नोएडा में रह रही हैं तो लखनऊ का पता देना गलत है। दूसरे, पता बदलने पर धारक के लिए पासपोर्ट में पता बदलवाना अनिवार्य है। यही नहीं, उन्होंने नाम बदले जाने के बाबत सही जानकारी तक दर्ज नहीं कराई है।

वहीं दूसरी ओर तन्वी सेठ के पासपोर्ट मामले में एक ओर जहां ट्रांसफर किए गए अधिकारी के पक्ष में समर्थन बढ़ रहा है। वहीं एक घंटे में पासपोर्ट जारी करने के बाद क्षेत्रीय पासपोर्ट अधिकारी पीयूष वर्मा बैकफुट पर आ गए हैं। उन्होंने मामले में चुप्पी साध ली है। शुक्रवार को दिनभर लोगों से मिलने से कतराते नजर आए। वहीं सुरक्षा के लिए कार्यालय पर पुलिस भी तैनात दिखी।

गौरतलब है कि तन्वी और उनके पति अनस बुधवार को पासपोर्ट बनवाने गए थे। सीनियर सुपरिटेंडेंट विकास मिश्र ने तन्वी के निकाहनामे व अन्य दस्तावेज पर सवाल उठाए थे। इसे लेकर दोनों में बहस हुई। विदेश मंत्रालय के हस्तक्षेप के बाद क्षेत्रीय पासपोर्ट अधिकारी ने घंटे भर में तन्वी का पासपोर्ट बनवाकर दे दिया था।

यहां देखें फोटो-http://v.duta.us/D9_DKgAA

📲 Get समाचार on Whatsapp 💬