[almora] - पति, सास और ससुर धारा 498 (ए) में दोषी

  |   Almoranews

अल्मोड़ा। सत्र न्यायाधीश डॉ. ज्ञानेंद्र कुमार शर्मा ने महिला के साथ क्रूरतापूर्ण व्यवहार और उत्पीड़न करने के मामले में धारा 498(ए) में पति, सास और ससुर को दोषी ठहराया है। जबकि धरा 304बी, 302 में आरोपियों को दोषमुक्त किया है। न्यायालय ने आरोपियों को सजा सुनाने के लिए 30 जून की तिथि नियत की है। द्वाराहाट तहसील की बावन गांव निवासी हेमा देवी पुत्री जगन्नाथ फुलारा का विवाह सात दिसंबर 2013 को द्वाराहाट तहसील के धमेड़ा गांव निवासी प्रकाश चंद्र पुत्र किशनानंद के साथ हुआ। चार अगस्त 2017 को हेमा देवी की मौत हो गई। मृतका के पिता जगन्नाथ फुलारा ने घटना की प्राथमिकी क्षेत्रीय पटवारी भेटीकामा के यहां दर्ज कराई। रिपोर्ट में कहा गया था कि पति प्रकाश चंद्र, सास तुलसी देवी और ससुर किशनानंद द्वारा किए गए क्रूरतापूर्ण व्यवहार और उत्पीड़न करने के कारण हेमा देवी की मौत हुई। विवेचना अधिकारी द्वारा आरोपियों के विरुद्ध धारा 302, 304बी, 498ए में न्यायालय में आरोप पत्र प्रस्तुत किया गया। मामले का विचारण सत्र न्यायाधीश अल्मोड़ा के न्यायालय में हुआ। अभियोजन की ओर से न्यायालय में नौ गवाह पेश कराए गए। न्यायालय में पति, सास और ससुर के खिलाफ धारा 498 (ए) में दोष सिद्ध हुआ। जबकि न्यायालय ने धारा 304बी, 302 में आरोपियों को दोषमुक्त किया।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/X4tppwAA

📲 Get Almora News on Whatsapp 💬