[azamgarh] - नियम-कानून ताक पर...जहां मन किया कर लिया कब्जा

  |   Azamgarhnews

आजमगढ़। नगर में सभी नियम कानून ताख पर रखकर जिसे जहां मिला वही उसने अवैध कब्जा कर लिया। सुनने में से अजीब जरूर है, लेकिन आजमगढ़ शहर की यही सच्चाई है। इसमें संबंधित विभागों की भी भूमिका सामने आ रही है। शुक्रवार को तमसा सफाई अभियान के दौरान जिलाधिकारी ने गौरीशंकर घाट, कदम घाट, दलालघाट आदि की गलियों के निरीक्षण के दौरान ये खुलासा हुआ।

डीएम ने सदर तहसील के राजस्व कर्मियों को मौके पर बुलाया और नक्शे-खतौनी से जानकारी हासिल की। पालिका से सभी को नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। एडीए सचिव को बुलाकर जमकर फटकार लगाई। अवैध निर्माणों के खिलाफ कार्रवाई के लिए निर्देशित किया। साथ ही पुराने रिकार्ड तलब किए हैं।

नदी किनारे तक हुए अवैध निर्माणों के प्रति अमर उजाला अक्सर अपने खबरों के जरिए आगाह करता रहता है। लेकिन जिम्मेदार नगरपालिका और आजमगढ़ विकास प्राधिकरण मौन साधे रहे। तमसा सफाई अभियान के दौराप ये अवैध निर्माण अब डीएम के सामने आ रहे है। शुक्रवार को गौरीशंकर घाट पहुंचे जिलाधिकारी पैदल ही कदम घाट की ओर बढ़े जहां

उन्होंने नदी के किनारे तक जोड़ी गई दीवार को देख हैरानी जताई। सदर तहसील के राजस्व कर्मियों को अभिलेखों के साथ मौके पर जानकारी हासिल की। भूमिधरी एक बिस्वा की थी, लेकिन पांच गुना जमीन पर कब्जा कर धार्मिक शिक्षण संस्थान बनाया गया था। इसके बाद वह सीधे गौरीशंकर घाट के बंधी पर गए और बंधी से सटे मकानों के बारे जानकारी करने के लिए तहसीलदार सदर को निर्देशित किया। दलालघाट के रास्ते से लोगों ने इंटरलाकिंग लगे रास्ते को ही शौचालय बना रखा था।

जबकि उसके बगल में मदरसा और मस्जिद स्थित थी। पुराने शौचालय को तोड़ दिया गया था उसके बगल में एक मकान बना हुआ था। जिलाधिकारी ने वहां पर नदी के किनारे तक जोड़कर छोड़ी गई बाउंड्रीवाल को भी देखा। उन्होंने राजस्व कर्मियों को इसकी जांच करने और नगरपालिका से सभी को नोटिस जारी करने का निर्देश दिया।

कार्यालय पहुंचते ही जिलाधिकारी ने बाढ़खंड के अधिकारियों को तलब कर बंधी पर मकान बनाए लोगों को नोटिस जारी करने का निर्देश दिया। उन्होंने सचिव को अवैध निर्माणों के खिलाफ तत्काल कार्रवाई का निर्देश दिया।

शुक्रवार को उपलब्ध रिकार्ड से पूरी तरीके से जानकारी नहीं मिल पा रही थी। राजस्व कर्मियों से और पुराने रिकार्ड तलब किए गए हैं। बहुत ज्यादा मात्रा में अवैध कब्जा किया गया है। स्थिति देखने से लग रहा है कि रिकार्ड में हेरफेर कर फर्जीवाड़ा भी किया गया है। सभी अतिक्रमण हटाए जाएंगे। जल्द ही इसके खिलाफ पूर्ण रूप से अभियान शुरू किया जाएगा।

शिवाकांत द्विवेदी, जिलाधिकारी

दो घंटे पैदल गलियों में घूमे डीएम, हाल देखकर रहे हतप्रभ

आजमगढ़। डीएम शिवाकांत शिवाकांत द्विवेदी ने दो घंटे तक पैदल तमसा नदी के किनारे बने गौरीशंकर घाट, कदम घाट, दलालघाट आदि मोहल्लों की एक गलियों का निरीक्षण किया। पुराने नाले, बंधे और नदी की जमीनों पर इतना अतिक्रमण देखकर वे हतप्रभ रह गए और तहसील के राजस्व कर्मियों से जानकारी मांगी। मौके पर एसडीएम से लेकर लेखपाल तक थे लेकिन उन्हें भी अपनी जमीनों के बारे में स्पष्ट जानकारी नहीं थी। हालात देखकर ने कहा कि अभी तक इन पर कार्रवाई नहीं होना आश्चर्यजनक है।

नदी के किनारे के मोहल्लों में 25 साल से ज्यादा पुराने नाले मिलते हैं। इनपर रेगुलेटर भी बनाए गए हैं ताकि नदी में बाढ़ आने पर इसका पानी दूसरी तरफ निकाला जा सके। लेकिन इनकी इतनी जर्जर है कि मरम्मत करने पर शायद ध्वस्त हो जाए। वहीं नाले पर स्लैब डाल कर भवन निर्माण कर लिया गया है। पूछने पर जानकारी मिली कि उन्हें ये जमीन बेची गई है।

निर्माण के कारण इन नालों की सफाई भी दुरूह है। नाले कचरे और प्लास्टिक से अटे पड़े हैं। गौरी शंकर घाट पर बने बंधी पर अवैध तरीके से बांसफोर तो सिर्फ रह रहे हैं, लेकिन उसके आगे पूरा बंधी ही गायब है। सिर्फ आम लोगों द्वारा ही नहीं, सरकार कर्मचारियों की ओर से भी अवैध निर्माण किया गया है। एक धार्मिक शिक्षण संस्थान के बिस्वा में रकबा है, लेकिन बीघों में अवैध कब्जा किया गया है। नदी के अंदर तक पिलर खड़े कर दीवार जोड़ दी गई है।

कुछ अवैध कब्जा किया जा रहा है वहीं, पालिका की ओर से बनाए जा रहे सार्वजनिक शौचालय के निर्माण को अवैध कब्जेधारियों ने रोक दिया है। अब अवैध निर्माण को लेकर संबंधित विभाग कितने गंभीर हैं इसका अंदाजा लगाया जा सकता है।

अवैध कब्जों का ये हाल देखकर एक बारगी तो जिलाधिकारी भी लंबी सांसें लेते दिखे। उन्होंने कहा कि पहले इसपर कार्रवाई न होना आश्चर्यजनक हैं। नाराज जिलाधिकारी ने राजस्वकर्मियों के साथ एडीए सचिव को भी खूब लताड़ लगाई। राजस्व विभाग और बाढ़ खंड विभाग को पुराने रिकार्ड के साथ तलब किया। कहा कि इसे हटाने के लिए जल्द ही अभियान शुरू किया जाएगा।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/J0pDrwAA

📲 Get Azamgarh News on Whatsapp 💬