[basti] - टूटे पोल में करंट से युवक की जान गई

  |   Bastinews

सल्टौआ। आंधी में टूटकर गिरे पोल में करंट दौड़ने से संपर्क में आए युवक की मौत हो गई। बचाने दौड़ा दूसरा युवक करंट के झटके से दूर जा गिरा। हादसे के बाद गांव वालों में नाराजगी है। लोगों का आरोप है कि बिजली विभाग के जिम्मेदारों की लापरवाही से युवक को जान से हाथ धोना पड़ा।

दुर्घटना सल्टौआ ब्लॉक के वाल्टरगंज थाना क्षेत्र के मनवां गांव में शुक्रवार को हुई। 12 जून को आई तेज आंधी में हाइटेंशन लाइन का पोल टूटकर गिर गया था। इसकी शिकायत भी गांव वालों ने विभाग में की थी। बावजूद बिजली आपूर्ति चालू थी। सुबह करीब आठ बजे गांव के अशोक कुमार (30) पुत्र श्रीकान्त त्रिपाठी मवेशियों के लिए चारा काटने के लिए गांव के उत्तर सिवान जा रहे थे। अभी वह सड़क से खेत में मुड़े ही थे कि तार छू गया जिससे करंट की चपेट में आ गए। उधर से ही रहे गांव के हरिवंश तिवारी छुड़ाने की कोशिश की तो कंरट के झटके से दूर जा गिरे। शोर मचाने पर आस पास के लोग पहुंचे। जैसे तैसे करंट की चपेट से अशोक को दूर किए। आनन-फानन में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सल्टौआ ले गए। हालत गंभीर देखकर चिकित्सकों ने जिला अस्पताल रेफर कर दिया। जहां जांच के बाद डॉक्टर ने अशोक को मृत्यु घोषित कर दिया।

अभी विद्युत सप्लाई ही नहीं दी गई है: जेई

घटना के संबंध में अवर अभियंता (विद्युत) एके मौर्य ने बताया कि राजीव गांधी विद्युतीकरण योजना के तहत तार व पोल लगाया गया है। अभी इसमें विद्युत आपूर्ति बहाल नहीं की गई। किसी उपभोक्ता की सप्लाई केबिल कटी होने से मुख्य तार के संपर्क के चलते करंट दौड़ा होगा। मामले की जांच कर कार्रवाई की जाएगी।

गांव वालों में गम और गुस्सा

आंधी में विद्युत पोल गिरने की शिकायत पर भी ठीक नहीं किए जाने से गांव वालों में गुस्सा है। करंट की चपेट में आने से युवक की मौत पर पूरा गांव सदमे में है। मृतक अशोक कुमार छह भाई बहनों में सबसे छोटा था। मिलनसार स्वभाव के कारण हर किसी को प्रिय था। बिजली निगम की लापरवाही को लेकर लोगों में नाराजगी है। पिता श्रीकांत, बडे़ भाई राजेश त्रिपाठी, बहन गायत्री, मीरा, गीता तथा माता सत्यभामा व पत्नी सावित्री देवी और बेटा कुशल का रो- रोकर बुरा हाल है। घर में कोहराम मच गया है।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/WzR1WgAA

📲 Get Basti News on Whatsapp 💬