[chandauli] - बाइक से गिरकर युवक की मौत

  |   Chandaulinews

कंदवा/धीना। छोटे भाई की बारात की गाड़ी सजाने के लिए फूल-माला लेकर आ रहे वीरेंद्र उर्फ वीरन (30) पुत्र बहादुर बिंद की बाइक गुरुवार की शाम छह बजे अमड़ा धीना मार्ग पर डिग्घी गांव के पास फिसल गई। हेलमेट न पहनने की वजह से युवक के सिर में गहरी चोट लगी। अस्पताल में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। अमड़ा गांव के भोलापुर मौजा निवासी युवक की मौत की खबर घर में मिली तो शादी की खुशियां मातम में बदल गई। पुलिस ने शव का पंचनामा करा पोस्टमार्टम के लिए भिजवा दिया। बहादुर बिंद के तीन लड़कों में सबसे छोटे सुरेंद्र की शादी गाजीपुर के दिलदारनगर थाना क्षेत्र के सुल्तानपुर दरौली में तय थी। गुरुवार की शाम बारात जाने की तैयारी हो रही थी। इसी बीच सुरेंद्र का भाई वीरेंद्र उर्फ वीरन दूल्हे की गाड़ी को सजाने के लिए फूल माला लाने के लिए बाइक से धीना गया। शाम छह बजे वह फूल माला लेकर लौट रहा था तभी डिग्घी गांव के पास बाइक फिसल कर गिर गई। हादसे में वीरेंद्र गंभीर रूप से घायल हो गया। मौके पर पहुंची यूपी 100 पुलिस ने एंबुलेंस की सहायता से वीरेंद्र को बरहनी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया। वीरेंद्र के एक्सीडेंट की सूचना घर में मिली तो लोग रोने-बिलखने लगे। बारात जाने की खुशी गम में बदल गई। हालांकि बड़े बुजुर्गों की सलाह पर चार पांच लोग सुरेंद्र के साथ बारात को लेकर गए। उधर बारात विदा हुई और दूसरी तरफ अस्पताल में चिकित्सकों ने वीरेंद्र को मृत घोषित कर दिया। वीरेंद्र की मौत पर सुरेेंद्र और उसके साथ गए बारातियों ने किसी तरह शादी की रश्म पूरी की और वापस लौटे। वीरेंद्र और सुरेंद्र दोनों दिल्ली में रहकर प्राइवेट कंपनी में काम करते थे। वीरेंद्र की मौत के बाद उसकी मां लालदेई, पत्नी निर्मला, पिता बहादुर बिंद का रो रोकर बुरा हाल हो गया। वीरेंद्र के दो बच्चे ज्योति (3) और बेटा ज्योतिषा डेढ़ वर्ष का है। बच्चों की मासूम आंखें यह भी नहीं समझ पा रही थी कि आखिर उसके पिता को हुआ क्या है और सभी रो क्यों रहे हैं। बच्चों को देख कर परिवार वालों को दिलासा देने आए लोगों की आंखें डबडबा आई थी।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/Dxzx6AAA

📲 Get Chandauli News on Whatsapp 💬