[dungarpur] - दो वर्ष में भी मॉडल नहीं बना तालाब, आ गया बारिश का मौसम!

  |   Dungarpurnews

23 लाख की लागत से हो रहा तालाब पर कार्यकार्य में घटिया सामान प्रयोग करने का लगाया आरोप पीठ (डूंगरपुर). सीमलवाड़ा पंचायत समिति की बांकड़ा ग्राम पंचायत का वेजणिया तालाब दो वर्ष में भी मॉडल नहीं बन पाया है। ग्राम पंचायत बारिश से पहले कार्य को पूरा करने का दावा करती है, लेकिन कार्य पूरा ही नहीं हो पा रहा है। गांव के प्राचीन जल स्त्रोत कार्य में घटिया सामग्री प्रयोग करने की शिकायत विकास अधिकारी से की है। दरअसल, सरकार ने पादेडी गांव के तालाब को मॉडल बनाने के लिए 23 लाख रुपए स्वीकृत किए। लोगों का कहना है कि गांव का जल स्त्रोत होने के कारण प्राथमिकता के साथ इस पर कार्य किया जाना चाहिए। इससे पशुधन को भी फायदा होगा।

पंचायत का दावा है कि 10 लाख रुपए की राशि खर्चं कर ली है, लेकिन ग्रामीण कार्य को लेकर संतुष्ट नजर नहीं आ रहे हैं।

शिकायत, बनाई जांच कमेटीसंपर्क पोर्टल पर तालाब की शिकायत हुई। जांच कमेटी बनाई गई। जांच कमेटी ने अनियमितता नहीं पाए जाने, सही कार्य की रिपोर्ट की है लेकिन शिकायत कर्ता को जांच कमेटी के सदस्य, जांच रिपोर्ट नहीं दी गई। लोगों का कहना है कि जांच कमेटी कब जांच करने पहुंची यह किसी को पता नहीं है। अब फिर से शिकायत कर निष्पक्ष जांच की मांग की है। लोगों ने पुराने घाट के एक हिस्से पर लीपापोती कर नया घाट बनाने, रपट को नुकसान पहुंचाने, घटिया सामग्री इस्तेमाल करने का आरोप लगाया है।

विभाग का मतइस सम्बन्ध में ग्राम पंचायत बांकड़ा के सरपंच रमेश डामोर का कहना है कि ग्राम पंचायत के वेजणिया तालाब को मॉडल तालाब बनाने का कार्य चल रहा है। 70 फीसदी कार्य पुरा हो चुका है।

इनका कहना...एक बार कार्य पूरा होने के बाद ही सवाल किए जा सकते हैं। पंचायत ने 10 लाख रुपए खर्च करने की बात कही है। अभी यूसी-सीसी जारी नहीं हुई है। - मुकेश लबाना, उपप्रधान, पंस सीमलवाड़ा

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/z8_l9gAA

📲 Get Dungarpur News on Whatsapp 💬