[karauli] - कई-कई दिन तक गुल रहकर बिजली अब लोगों को झटका नहीं दे पाएगी, करौली में तैयार हुआ सेंट्रल कंट्रोल रूम

  |   Karaulinews

करौली.अधिकारियों के फोन नहीं उठाने। शिकायत दर्ज होने के बाद समाधान नहीं होने और कई-कई दिन तक बिजली गुल रहने जैसी शिकायतें अब लोगों को झटका नहीं देंगी।

विद्युत निगम की ओर से तैयार किए गए सेंट्रल कंट्रोल रूम इन शिकायतों के समाधान की मशक्कत हाथोंहाथ करेगा। कंट्रोल रूम २४ घंटे सक्रिय रहकर लोगों की शिकायत सुनकर उनका समाधान कराएगा।

विद्युत निगम की ओर से जयपुर स्तर पर एक टोल फ्री नंबर किसी भी विद्युत संंंबंधी शिकायत के लिए दिया गया है। अब उपभोक्ता इस पर फोन करेगा तो शिकायत दर्ज होते ही जिले में बनाए गए कंट्रोल रूम के कम्प्यूटर सिस्टम पर इसकी डिटेल ऑनलाइन आ जाएगी। कंट्रोल रूम जिस उपखंड से संबंधित शिकायत होगी, उसके अधिकारी को सूचित करेगा। इसके बाद गाड़ी शिकायत का समाधान करने को रवाना होगी। ऐसे में अब समस्या का समाधान तुरंत होने की उम्मीद जगी है।

उपखंड में लगाई गाड़ीअब तक शिकायत मिलने पर संसाधनों का टोटा आड़े आता रहा है, लेकिन अब शिकायतों पर काबू पाने के लिए हर उपखंड पर एक अलग गाड़ी दी गई है। इस पर तीन कर्मचारी तैनात किए गए हैं। साथ ही मॉनीटरिंग के लिए अधिकारी लगाया है। टोल फ्री पर दर्ज होने वाली शिकायत कंट्रोल रूम में आने के साथ संबंधित गाड़ी में लगे टेबलेट पर भी जाएगी। इसके अलावा कंट्रोल रूम संबंधित अधिकारी को फोन से सूचित भी करेगा। निगम की ओर से करौली, श्रीमहावीरजी, सपोटरा, हिण्डौनसिटी, टोडाभीम और नादौती में एक-एक गाड़ी लगाई गई है।

योजनाओं की भी देंगे जानकारीसभी उपखंड में शिकायतों के निवारण के लिए लगाई गईं गाडिय़ां निगम की योजनाओं के बारे में भी उपभोक्ताओं को बताएंगी। खास तौर से विद्युत कनेक्शन लेने, ट्रांसफार्मर बदलने, कृषि कनेक्शन, मीटर बदलने आदि की जानकारी लोगों को देगी। कंट्रोल रूम पर उपभोक्ता सीधे भी शिकायत दर्ज करा सकते हैं।

टोल फ्री नंबर १८००१८०६५०७ पर दर्ज होने वाली शिकायत भी कंट्रोल रूम पर पहुंचेगी। कंट्रोल रूम सुबह ८ से अपराह्न 3, अपराह्न 3 से रात्रि १० एवं रात्रि १० से सुबह ८ बजे तक तीन पारियों में काम करेगा। इसके लिए निगम का इंटलनेट कंपनी से करार हुआ है।

'उपभोक्ताओं की समस्याओं का तुरंत समाधान करने के लिए कंट्रोल रूम स्थापित किया है। यह २४ घंटे काम करेगा। टोल फ्री नंबर पर शिकायत दर्ज कराने के बाद वह स्वत: ही कंट्रोल रूम में पहुंचेगी। साथ ही समस्या निवारण के लिए लगाई गाडिय़ों के टेबलेट पर भी दर्ज होगी। ऐसे में गाडिय़ां तुरंत मौके पर पहुंचकर समस्या का यथासंभवन निराकरण करेंगी।'— जे.एल. मीना, अधीक्षण अभियंता विद्युत निगम करौली

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/ncvzmAAA

📲 Get Karauli News on Whatsapp 💬