[karauli] - राजस्थान: हिचकौले भरी यात्रा की मजबूरी इसलिए कि 50 गांवों का रास्ता सालों से बदहाल पड़ा है, गड्ढ़ों में फंस हो जाते हैं पहिए

  |   Karaulinews

करौली/रेवई. हिण्डौन के तहसील क्षेत्र सहित भरतपुर जिले के दर्जनों गांवों की जोडऩे वाली सड़क वर्षों में बदहाल है। समय रहते मरम्मत नहीं होने से कदम गड्ढ़ों में तब्दील होने से ग्रामीणों को हिचकौले भरी यात्रा करनी पड़ रही है।

स्थिति यह है कि ग्रामीण क्षेत्र की उधड़ी सड़क सार्वजनिक निर्माण विभाग द्वारा सुध नहीं ली गई है।

गेंदूपुरा गांव निवासी दिनेश सिंह गुर्जर, सुरेश सिंह गुर्जर आदि ने बताया कि बाजना फाटक होती हुई सड़क लहचौड़ा, विजयपुरा सहित तहसील क्षेत्र के २० से अधिक गांवों के जोड़ती है। वहीं भरतपुर जिले की बयाना तहसील के सीमावर्ती गांव में लहचौड़ा, भोगीपुरा, बृजलाल का नंगला सहित अनेक गांवों के लिए भी यह सड़क हिण्डौन आवागमन का रास्ता है। यह सड़क गेंदूपुरा गांव तक उधड़ का जर्जर हाल हो गई है। करीब चार-पांच किलोमीटर तक सड़क पर कदम-कदम पर गड्ढ़े बने होने से चौपहिया वाहन धीमी गति से हिचकौले खाते चलते हैं। बदहाल सड़क पर सामने से आने वाले वाहन से बचने की कोशिश में दुर्घटना की आशंका भी रहती है। ग्रामीणों ने सार्वजनिक निर्माण विभाग के मंत्री को पत्र भेज का सड़क का पुनॢनर्माण कराने की मांग की है।

60 लाख की लागत से था यह बनाकरौली/बाईजट्ट (सूरौठ). हाल ही बाईजट्ट में बने गौरव पथ के दोनों ओर नाली निर्माण नहीं होने से ग्रामीण रास्ते और घरों में बारिश में जल भराव होने से आशंकित है।

ग्रामीणों ने कहना है कि नालियों के अभाव में गौरवपथ से जल निकासी नहीं हो पाएगी। पूर्व सरपंच मुरारी लाल व गोविन्द रावत ने बताया कि राज्य सरकार की ग्रामीण गौरव पथ योजना के तहत गांव में ६० लाख रुपए की लागत से गौरव पथ का निर्मााण किया गया। सार्वजनिक निर्माण विभाग ने गत माह सीसी सड़क निर्माण कर दिया।

वहीं नाली का निर्माण नहीं कराया गया है। ग्रामीणों का आरोप है कि ठेकेदार द्वारा गौरव पथ की माप के मुताबिक चौड़ी सड़क नहीं बनाई। संकरी सड़क पर वाहन चालकों को आवागमन में परेशानी होती है। ग्रामीणों ने बताया कि नियमानुसार गौरव पथ की सड़क के दोनोंं ओर जल निकासी के लिए नालियों बननी थी, अधिकारियों की अनदेखी के चलते निर्माण नहीं कराया गया। ग्रामीणों ने बाताया कि नाली नहीं होने से बारिश का पानी सड़क पर भी भर जाएगा। वहीं अधिक बारिश में पानी के बहकर निकलने की बजाय घरों में भरने की आशंका रहेगी।

ग्रामीणों ने जिला कलक्टर को पत्र भेज कर गौरव पथ के दोनों ओर नालियों का निर्माण कराने की मांग की है। वहीं गांव के अन्य रास्तों से अतिक्रमण हटवा की राह सुगम करने की मांग की है। इधर सार्वजनिक निर्माण विभाग के सहायक अभियंता रामराज मीणा ने कहा कि गांव में जल निकासी के प्रबंध के लिए गौरव पथ के दोनों ओर नालियों का निर्माण कराया जाएगा। इस बारे में ठेकेदार से बात करेंगे।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/iRljSQAA

📲 Get Karauli News on Whatsapp 💬