[lucknow] - पासपोर्ट विवाद पर रीजनल पासपोर्ट अधिकारी ने मांगी पुलिस से सुरक्षा, एक दरोगा और कांस्टेबल तैनात

  |   Lucknownews

लखनऊ के रतन स्क्वॉयर स्थित पासपोर्ट सेवा केंद्र के रीजनल ऑफिसर पीयूष वर्मा ने पुलिस प्रशासन से सुरक्षा की मांग की है। एसपी नार्थ अनुराग वत्स ने इस संबंध में बताया कि धर्म के आधार पर तन्वी सेठ और अनस सिद्धीकी के साथ हुई बदसलूकी के बाद से केंद्र में लोगों का आना-जाना काफी बढ़ गया है।

मीडिया के अलावा भी बड़ी संख्या में लोग घटना की पूछताछ के लिए पासपोर्ट केंद्र में आ रहे हैं। जिसके चलते केंद्र में काफी अव्यवस्था का माहौल है। इसे देखते हुए पासपोर्ट रीजनल ऑफिसर पीयूष वर्मा ने सुरक्षा मुहैया कराने की मांग की थी। मामले की गंभीरता को देखते हुए शुक्रवार को एक दरोगा और एक कांस्टेबल को पासपोर्ट सेवा केंद्र में तैनात किया गया है।

पढ़ें- पासपोर्ट अधिकारी ने दी सफाई, तन्वी के निकाहनामे में दर्ज है ...

गौरतलब है कि पासपोर्ट अधिकारी विकास मिश्रा पर आवेदक तन्वी सेठ ने बदसलूकी का आरोप लगाया था। तन्वी सेठ के मुताबिक बुधवार को जब वह अपना आवेदन लेकर विकास मिश्रा के पास गई तो उन्होंने मुस्लिम से शादी करने को लेकर व्यक्तिगत कमेंट किए, जब तन्वी सेठ ने इसका विरोध किया तो विकास मिश्रा ने उनके साथ बदसलूकी भी की।

तन्वी सेठ ने इस पूरे मामले की शिकायत ट्वीटर के जरिए विदेश मंत्रालय से की थी। घटना की जानकारी होते ही विदेश मंत्रालय ने त्वरित कार्रवाई कर लखनऊ कार्यालय से रिपोर्ट मांगी थी, जिसके बाद विकास मिश्रा का तबादला गोरखपुर करने के साथ आनन-फानन में तन्वी सेठ और अनस सिद्धीकी का पासपोर्ट जारी कर दिया गया था।

वहीं, विकास मिश्रा ने गुरुवार को मीडिया के सामने तन्वी सेठ द्वारा लगाए गए आरोपों का खंडन किया। उन्होंने कहा कि तन्वी सेठ अवैध रूप से अपने पति का नाम पासपोर्ट में शामिल कराना चाहती थीं। जिस निकाहनामें को आधार बनाकर वह यह दावा कर रहीं थीं, उसमें उनका नाम 'सादिया अनस' लिखा हुआ था। इसकी जानकारी उन्होंने आवेदन में नहीं दी थी। इसे लेकर उन्होंने आपत्ति जाहिर की थी।

पढ़ें- पासपोर्ट विवाद में अफसर के समर्थन में आईं मालिनी अवस्थी, सोशल ...

विकास मिश्रा का पक्ष सामने आने के बाद सोशल मीडिया पर बड़ी संख्या में लोग उनके पक्ष में खड़े हो गए। गुरुवार देर शाम मशहूर लोक गायिका मालिनी अवस्थी भी उनके पक्ष में खड़ी हो गई। इस पूरे मामले को हिंदू-मुस्लिम के नजरिए से देखने पर लोग विदेश मंत्री सुषमा स्वराज की तीखी आलोचना करते हुए मुस्लिम तुष्टिकरण का आरोप लगाया है।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/PnsAcAAA

📲 Get Lucknow News on Whatsapp 💬