[rajsamand] - ‘क्या है शहर की इस जलवाहिनी का सच’ , ऐखिए कैसे तालेड़ी नदी का दामन नोंचने वालों ने कर दिया तहस-नहसबहता

  |   Rajsamandnews

राजसमंद. शहर की तालेड़ी नदी का दामन नोंचने वालों ने इसे और ज्यादा तहस-नहस कर दिया है। टीवीएस चौराहे के निकट चल रहे एक शॉपिंग मॉल के निर्माण के तहत पिछले एक साल में तालेड़ी के पेटे में मनमर्जी से खुदाईऔर भराव किया गया, जिससे अब इसका प्राकृतिक बहाव पूरी तरह प्रभावित हो गया है। तालेड़ी अब सडक़ में तब्दील हो गई है। पेटे का स्तर ऊंचा कर देने से बहाव क्षेत्र में पश्चिमी क्षेत्र में पानी ठहरा हुआ है। करीब दो साल पहले तालेड़ी के पेटे में टीवीएस चौराहे के निकट एक शॉपिंग मॉल का निर्माण कार्य शुरूहुआ था। इसकी नींवों की खुदाईके दौरान ही तालेड़ी का प्राकृतिक बहाव खुर्द-बुर्दहोना शुरू हो गया था, जब पानी नीवों में भर गया। निर्माण कर्ता को कई महीनों तक बड़े पम्प लगाकर पानी खाली करना पड़ा। इसके बाद यहां रात-दिन एक्सक्वेटर और भारी मशीनें लगाकर खुदाईकी गई। तालेड़ी नदी में पुलिया के पश्चिमी छोर पर भी मलबा खोदने और भराव का कार्य मनमर्जी से किया गया।

बजरी की भी कर ली चोरी!बताया गया कि निर्माण कार्य के दौरान ठेकेदार ने तालेड़ी के पेटे की खुदाईकर अवैध रूप से बजरी दोहन भी कर लिया। खोदने के बाद वापस मलबा भरकर गड््ढों को पाट दिया गया। इधर, तालेड़ी के साथ छेड़छाड़ को लेकर जिम्मेदार प्रशासनिक अधिकारियों ने आंखें मूंद रखी है। लगातार अनदेखी के चलते नदी के पेटे में बेतरतीब ढंग से खुदाईकरने वालों के हौसले बुलंद हैं।

बदल गई स्थितिबरसात का मौसम शुरूहोने वाला है। ऐसे में तालेड़ी नदी में प्राकृतिक बहाव प्रभावित होने की पूरी आशंका है। टीवीएस चौराहे के पास दो साल पहले तक रही तालेड़ी की स्थिति काफी हद तक बदल चुकी है। पहले यहां प्राकृतिक बहाव क्षेत्र आसानी से नजर आता था। पेटा अब सडक़ में तब्दील हो गया है।

घरों में घुसाथा पानीटीवीएस चौराहे के पास नदी को कईफीट ऊंचाईतक पाट दिया गया है। प्राकृतिक जल बहाव क्षेत्र में मलबे के ढेर भी लगे हुए हैं, जिससे पानी का रास्ता प्रभावित हो सकता है। दो साल पहले बरसाती पानी घरों में घुस गया था। प्रशासन ने ट्रेंच बनाकर पानी की निकासी करवाईथी।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/Abfh4QAA

📲 Get Rajsamand News on Whatsapp 💬