[rudraprayag] - जड़ी-बूटी, फल, फूल व दूध, घी के उत्पादन से आर्थिकी पर जोर

  |   Rudraprayagnews

रुद्रप्रयाग। रोजगार प्रोन्नयन को लेकर आयोजित बैठक में जिले में रोजगार की भावी संभावनाओं को चिहिृृत कर लोगों की आर्थिकी को मजबूत करने पर जोर दिया गया है। इस दौरान जड़ी-बूटी उत्पादन को व्यावसायिक रूप देकर किसानों की आर्थिकी मजबूत करने का सुझाव दिया गया। रोजगार 2018 के तहत जिला सभागार में हुई बैठक में विधायक भरत सिंह चौधरी ने कहा कि जड़ी-बूटी उत्पादन को व्यावसायिक रूप देकर किसानों की आर्थिकी को मजबूत किया जा सकता है। उन्होंने गांवों में चरणबद्ध तरीके से जड़ी-बूटी, फल, फूल और अन्य नगदी फसलों के उत्पादन के लिए रूपरेखा तैयार करने की बात भी कही। बैठक की अध्यक्षता करते हुए डीएम मंगेश घिल्डियाल ने कहा कि जिले की भौगोलिक संरचना के अनुसार रोजगार की संभावनाओं को तलाशा जाएगा। अधिकाधिक लोगों को कृषि, उद्यान, लघु उद्योग व अन्य क्षेत्रों में रोजगार मिले, इसके लिए उन्हें प्रशिक्षित भी किया जाएगा। बताया कि इस वर्ष केदारनाथ यात्रा में बड़े पैमाने पर स्थानीय लोग चौलाई के लड्डू, चूरमा सहित प्रसाद तैयार करने का कार्य कर रहे हैं, जिससे उनकी आर्थिकी को बल मिल रहा है। डीएम ने गाय का दूध, घी सहित फूलोत्पादन पर भी जोर दिया, जिसे आने वाले समय में केदारनाथ सप्लाई किया जा सके। इस अवसर पर जनपद में पुराने यात्रा रूटों को पुनर्जीवित कर पर्यटन से जोड़ने पर भी चर्चा की गई। साथ ही किसानों का जैविक बोर्ड में पंजीकरण करने पर जोर दिया गया, जिससे उन्हें उत्पादों का अच्छा दाम मिल सके। साथ ही पहाड़ी उत्पादों को एक ब्रॉड नेम देकर विलय करने की बात की गई। इस मौके पर ब्लाक प्रमुख जगमोहन सिंह रौथाण, ज्येष्ठ उप प्रमुख प्रबल सिंह नेगी, सीडीओ डी आर जोशी, सीबीओ डॉ. आरसी नितवाल, पीडी एनएस रावत, जिला सेवायोजन अधिकारी कपिल पांडे, किशन सिंह रावत, जयकृत, प्रकाश सिंह, माधुरी नेगी आदि मौजूद थे।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/6vyhYAAA

📲 Get Rudraprayag News on Whatsapp 💬