[udaipur] - उदयपुर का ये परिवार बना सबके लिये मिसाल, लौटाया भारी भरकम टीका, खबर पढ़कर आप भी करेंगे इनकी तारीफ

  |   Udaipurnews

शुभम कडेला / मावली (निप्र). सामाजिक कुरीतियों के क्रम में जहां मौजूदा दौर में दहेज प्रथा शराब सेवन का बोलबाला है। इसके उलट मावली क्षेत्र के झाला का गुड़ा गांव में राजपूत समाज ने दस्तूर में एक रुपया व श्रीफल लेकर अच्छी मिसाल पेश की है।

कैलाशपुरी ग्राम पंचायत के झाला का गुड़ा गांव में गुरुवार को हुए दूूल्हे के पिता ने एक रुपए एवं श्रीफल में बेटे का विवाह करवाया। साथ ही पूरे शादी समारोह में शराब पर प्रतिबंध लगा दिया। जिससे यह विवाह पूरे जिलेभर में चर्चा का विषय बना रहा।

झाला का गुड़ा निवासी अनिता कुंवर पुत्री फूलसिंह झाला एवं भरतसिंह पुत्र हरमनसिंह का विवाह 21 जून को झाला का गुड़ा गांव में हुआ। गोगुन्दा के जेमली गांव से भरतसिंह बारात लेकर पहुंचा। विवाह समारोह में निर्भया नशामुक्ति नवजीवन ज्योति संस्थान के पदाधिकारियों की प्रेरणा से शादी में शराब के उपयोग पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध लगा रहा।

समाज ने की सराहना विजयसिंह कितावत ने बताया कि टीके की सामाजिक रस्म के दौरान थाली में वधू पक्ष ने रस्म के तहत सोने एवं चांदी के आभूषण सहित रकमें पेश की। मगर वर पक्ष ने मात्र 1 रूपया एवं श्रीफल स्वीकार करते हुए वधू पक्ष द्वारा दी गई रकमों को पुन: लौटा दिया। इस वाकये को देख राजपूत समाजजनों ने वर पक्ष की सराहना की।

शराब पर प्रतिबंधझाला का गुड़ा गांव में हुए शादी समारोह में शराब पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध रहा। कितावत नोबल्स सोसायटी के संस्थापक गोपालसिंह कितावत एवं विजयसिंह कितावत ने बताया कि निर्भया नशामुक्ति नवजीवन ज्योति संस्थान की प्रेरणा से वधू पक्ष ने यह बड़ा निर्णय लेते हुए समाज में जागृति लाने के लिए कदम बढाया।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/AVTXcQAA

📲 Get Udaipur News on Whatsapp 💬