[uttarkashi] - गंगोत्री नेशनल पार्क में बढ़ रहा है दुर्लभ वन्य जीवों का कुनबा

  |   Uttarkashinews

उत्तरकाशी। गंगोत्री नेशनल पार्क में दुर्लभ वन्य जीवों का कुनबा बढ़ता जा रहा है। भारतीय वन्य जीव संस्थान एवं पार्क प्रशासन के ट्रैप कैमरों की मदद से स्नो लेपर्ड और भरल के अलावा करीब एक दर्जन से अधिक नई प्रजातियों के जीव देखे गए हैं।वर्ष 1989 में गंगोत्री नेशनल पार्क की स्थापना के बाद केंद्र सरकार ने यहां मौजूद वन्य जीवों का पता लगाने के प्रयास किए थे, लेकिन गणना करना मुश्किल था। इसके बाद 2012 में पार्क प्रशासन और वर्ष 2015 में भारतीय वन्य जीव संस्थान ने नेलांग, गोमुख एवं केदारताल क्षेत्र में ट्रैप कैमरे लगाए। पार्क प्रशासन के 40 और डब्लूआईआई के 200 कैमरों की मदद से वैज्ञानिकों को सफलता मिली है। डब्लूआईआई के वरिष्ठ वैज्ञानिक डा. एस सथ्य कुमार के अनुसार बीते तीन साल में ही संस्थान को स्नो लेपर्ड, भूरा एवं काला भालू, लाल लोमड़ी, कस्तूरी मृग सहित एक दर्जन से अधिक दुर्लभ वन्य जीवों की तस्वीरें मिली हैं।वर्ष 2016 में हर्षिल क्षेत्र में हिमालयी जंगली कुत्ता दिखा था, जबकि वर्ष 2017 में सैंड फॉक्स, अर्गली भेड़, लिंक्स बिल्ली, तिब्बती भेड़िया, तिब्बती खरगोश, उड़ने वाली हिमालयी गिलहरी आदि दिखाई दिए। इसके अतिरिक्त कीट, पक्षियों, जलचरों एवं रेंगने वाले जीवों की भी नई प्रजातियां दिखी हैं।कोट:गंगोत्री नेशनल पार्क क्षेत्र में ट्रैप कैमरे लगने के बाद से कई दुर्लभ वन्य जीव दिखाई दिए हैं। वर्तमान में सिक्योर हिमालय प्रोजेक्ट के तहत क्षेत्र के वन्य जीवों एवं वनस्पतियों के संरक्षण सहित स्थानीय निवासियों के उत्थान के लिए कार्य किया जा रहा है।-श्रवण कुमार, उप निदेशक गंगोत्री नेशनल पार्क।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/alLZCgAA

📲 Get Uttarkashi News on Whatsapp 💬