[kanpur] - इटावा में शिवपाल को आया गुस्सा, जिला प्रशासन ने उखड़वाया तंबू-कनात

  |   Kanpurnews

इटावा में एक कार्यक्रम के दौरान सपा के वरिष्ठ नेता और विधायक शिवपाल सिंह यादव को गुस्सा आ गया। कार्यक्रम में उन्हें बतौर मुख्य अतिथि बुलाया गया था। इटावा ताखा ब्लाक में शनिवार को ग्राम स्वराज योजना के तहत राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन और कैशल विकास मेले का आयोजन किया था। प्रशासन की तरफ से आयोजित इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के लिए बुलावा भाजपा नेता मनीष यादव पतरे को भेज दिया गया तो दूसरी तरफ बीडीओ ने क्षेत्रीय विधायक शिवपाल सिंह यादव को बतौर मुख्य अतिथि बुलावा भेज दिया। कार्यक्रम में विधायक शिवपाल के आने की भनक लगते ही तंबू-कनात उखाड़ दिए गए गए। कार्यक्रम में शामिल होने के लिए आईं महिलाओं को वापस कर दिया गया। कार्यक्रम स्थल पर पहुंचे शिवपाल ने कहा कि प्रशासन पक्षपात कर रहा है। लोगों को जबरन पंडाल से हटाया गया।

जिला प्रशासन ने भाजपा नेता मनीष यादव पतरे को मुख्य अतिथि के तौर पर आमंत्रित किया था। उधर, खंड विकास अधिकारी ताखा धर्मवीर सिंह यादव ने क्षेत्रीय विधायक शिवपाल सिंह यादव, ब्लॉक प्रमुख प्रतिनिधि जयराज सिंह एवं ब्लाक प्रमुख उर्मिला देवी कठेरिया को भी आमंत्रित कर दिया। सपा नेता और क्षेत्रीय विधायक शिवपाल सिंह को मुख्य अतिथि बनाने की सूचना खंड विकास अधिकारी ने उच्च अधिकारी को नहीं दी। अचानक भाजपा और सपा नेताओं के एक ही कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर पहुंचने की सूचना पर प्रशासन ने टकराव की आशंका पर कार्यक्रम निरस्त कर दिया। कार्यक्रम स्थल पर लगाए गए तंबू-कानत, स्टाल हटवाए गए। कार्यक्रम में पहुंची महिलाओं को भी पुलिस बुलाकर बाहर कर दिया गया। इसी बीच कार्यक्रम में शामिल होने के लिए क्षेत्रीय विधायक शिवपाल सिंह यादव भी पहुंच गए। उनके पहुंचने की सूचना पर उप जिलाधिकारी चकरनगर मोहम्मद कमर, क्षेत्राधिकारी चकरनगर उत्तम कुमार, कोतवाल भरथना जेपी पाल, प्रभारी थानाध्यक्ष ऊसराहार छोटेलाल व पुलिस बल वहां पहुंच गया। अधिकारियों ने कार्यक्रम निरस्त होने की जानकारी दी। शिवपाल ने मुख्य विकास अधिकारी पर कार्यक्रम को निरस्त कराने का आरोप लगाया। इस संबंध में खंड विकास अधिकारी धर्मवीर सिंह ने बताया कि सीडीओ के निर्देश पर कार्यक्रम निरस्त किया गया है, जनपद स्तरीय अधिकारियों ने किसे आमंत्रित किया था इसकी उन्हें जानकारी नहीं दी गई थी। इसीलिए उन्होंने क्षेत्रीय विधायक और जनप्रतिनिधियों को बुलावा भेजा था। मुख्य विकास अधिकारी पीके श्रीवास्तव ने बताया कि खंड विकास अधिकारी ताखा को ब्लाक प्रमुख को आमंत्रण करने को कहा गया था। साथ ही जनपद स्तर से भी जनप्रतिनिधियों को आमंत्रण दिए गए थे। दोनों दलों के नेताओं के पहुंचने से टकराव की स्थिति में कार्यक्रम को निरस्त कर दिया गया है।

व्यापक स्तर पर की गई थी तैयारी

खंड विकास कार्यालय पर आयोजित कौशल विकास मेले की तैयारियां काफी बड़े पैमाने पर की गई थी। बडे़ टेंट व्यवसायी छदामीलाल टेंट हाउस को टेंट लगाने के लिए कहा गया था। बड़ा पंडाल भी बनाया गया था। कूलर और साउंड समेत खाने-पीने की व्यवस्था के साथ प्रचार प्रसार पर भी पैसा खर्च किया गया था।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/NburOQAA

📲 Get Kanpur News on Whatsapp 💬