[kanpur] - भांजे को मारने के लिए थाने तक दौड़ा 'बहन का हत्यारा', पोल खुलते ही भाग निकला

  |   Kanpurnews

मुकदमेबाजी में सुलह न करने पर शनिवार सुबह एक व्यक्ति ने अपनी बहन की चाकू घोपकर हत्या कर दी। इसके पहले उसने भांजे पर कातिलाना हमला किया लेकिन उसने छिपकर जान बचाई। उसने भांजे और बहनोई का थाने तक पीछा किया। बाद में थाने पहुंचकर गलत आरोप भी लगाए। वहां, मौत की पोल खुलते ही भाग निकला। पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर तलाश शुरू कर दी है।

मामला फतेहपुर जिले के जाफरगंज थाना क्षेत्र के बहादुरपुर गांव का है। जलील की पत्नी राबिया (55) का इसी गांव में मायका है। राबिया ने अपने भाई इस्माइल के साढ़ू की लड़की शाहीन से अपने बेटे इरफान का निकाह नौ साल पहले कराया था। शाहीन बिंदकी कोतवाली क्षेत्र के रतवाखेड़ा गांव निवासी नसरुल की बेटी है। तीन साल से इरफान और शाहीन के बीच मतभेद हैं। शाहीन मायके में रहती है और उसने गुजारा भत्ते का कोर्ट में वाद दाखिल किया है।

शुक्रवार को कोर्ट में तारीख थी। इरफान पक्ष कोर्ट नहीं पहुंचा। इसी खुन्नस में इरफान को शनिवार सुबह रास्ते में इस्माइल ने अपने बेटे अयूब के साथ रोक लिया। सुलह करने या गुजारा भत्ता देने के मुद्दे पर विवाद शुरू हो गया। आरोप है कि इस्माइल ने अपने भांजे इरफान पर चाकू से हमला किया। बेटे की चीख सुनकर मां राबिया और पिता जलील मौके पर पहुंचे। उधर, जान बचाकर इरफान छिप गया। गुस्साए इस्माइल ने अपनी बहन राबिया के पेट में चाकू घोप दिया। राबिया लहूलुहान होकर गिर पड़ी। थोड़ी ही देर में उसकी मौत हो गई। पिता-पुत्र थाने जा रहे थे तो इस्माइल भी उनके पीछे भागा। दोनों भागकर जाफरगंज थाने पहुंचे। थाने से कुछ दूरी पर इस्माइल रुक गया और दूसरी दिशा में भाग निकला।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/lrVyngAA

📲 Get Kanpur News on Whatsapp 💬