[mathura] - नगर निगम में पांच करोड़ के टेंडर पर बैठी जांच

  |   Mathuranews

मथुरा। मथुरा-वृंदावन नगर निगम की ओर से पांच करोड़ की लागत से कराए जाने वाले सिविल वर्क की टेंडरिंग पर जांच शुरू हो गई है। मंडलायुक्त ने एडीएम कानून व्यवस्था को यह जांच सौंपी है।

मार्च माह के दौरान मथुरा-वृंदावन नगर निगम ने 14वें आयोग से प्राप्त धनराशि से नाली, इंटरलॉकिंग सहित विभिन्न सिविल वर्क के टेंडर जारी किए थे। करीब पांच करोड़ की लागत से 51 स्थानों पर काम होने थे। राजकीय ठेकेदार संघ ने निगम की टेंडरिंग प्रक्रिया पर सवाल उठाते हुए मंडलायुक्त से शिकायत की।

इसमें निगम के अफसरों पर गंभीर आरोप लगाए गए। मंडलायुक्त ने इस शिकायत पर एडीएम कानून व्यवस्था रमेशचंद को जांच के आदेश दिए। शनिवार को एडीएम ने जांच शुरू कर दी। इसमें ठेकेदारों ने अपने बयान दर्ज कराए हैं। इसके अलावा नगर निगम के अधिशासी अभियंता ने अपना लिखित बयान जांच अधिकारी को दिया है।

नलकूप संचालन में भी घालमेल

नगर निगम के 160 नलकूपों के संचालन के ठेका को लेकर भी मामला जिला प्रशासन के समक्ष पहुंच गया है। शिकायत दर्ज कराई गई है कि निगम के जलकल संस्थान के अफसरों ने अनियमित तरीके से नलकूपों के टेंडर ऊंची दरों पर स्वीकृत किए हैं। जबकि कम कीमत वाले टेंडर्स को बगैर किसी कारण निरस्त कर दिया गया है। इससे निगम को एक नलकूप के संचालन में ही प्रतिमाह सात हजार रुपये का नुकसान होगा। यह शिकायत एडीएम कानून व्यवस्था से की गई है।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/a5W2vQAA

📲 Get Mathura News on Whatsapp 💬