[azamgarh] - विधायक और विश्वविद्यालय का भाजयुमों ने फूंका पुतला

  |   Azamgarhnews

आजमगढ़। सपा विधायक नफीस अहमद द्वारा शुक्रवार को जिन्ना प्रकरण पर दिए गए बयान को लेकर शनिवार को जनपद में हिंदू संगठनों ने विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया। शनिवार को भाजयुमो ने कलेक्ट्रेट चौराहे पर सपा विधायक और अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय का पुतला फूंक कर विरोध जताया। जिला योजना समिति की बैठक के बाद शुक्रवार को कलेक्ट्रेट सभागार में मीडिया को दिए इंटरव्यू में सपा विधायक नफीस अहमद ने कहा था कि पार्लियामेंट में भी श्यामाप्रसाद मुखर्जी के साथ जिन्ना और डा. भीमराव आंबेडकर की तस्वीर के साथ अनेक फ्रीडम फाइटरों की तस्वीर लगी है। अगर इनको इतनी ही नफरत है तो सबसे पहले जिन्ना हाउस को नेस्तनाबूद करें। अगर इनको इतनी ही नफरत है इतिहास से तो राष्ट्रपति भवन से शुरू करें ताजमहल, लालकिला आदि सभी भवनों को नेस्तनाबूद करें। आरएसएस के लोग न तो मुसलमानों के दोस्त हैं और न हिंदुओं के दोस्त हैं ये देश के भी नहीं हैं। अगर दोस्त होते तो बीएचयू के अंदर जो आंदोलन हुआ आंदोलन करने वाले भी हिंदू थे और उनका विरोध करने वाले यही %दोगले हिंदू% थे। उनके इस बयान से नाराज भाजयुमो के कुशल सिंह गौतम के नेतृत्व में समाजवादी पार्टी के विधायक नफीस अहमद और अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय का पुतला फूंका। कुशल सिंह गौतम ने कहा कि राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ भारत देश का दक्षिणपंथी, हिंदू राष्ट्रवादी, अर्धसैनिक स्वयं सेवक संगठन है। जिसके खिलाफ हिंदू संगठन कोई आपमान जनक टिप्पणी बर्दाश्त नहीं करेगा। जिला उपाध्यक्ष सुजीत पांडेय ने भी अपनी भावनाओं को व्यक्त किया। इस दौरान भाजयुमो कार्यकर्ताओं नफीस अहमद, समाजवादी पाटी मुर्दाबाद और भाजयुमो जिंदाबाद के नारे लगाए गए। इस मौके पर राघवेंद्र प्रताप सिंह, बंटी, अंवेश यादव, उपेंद्र पांडेय, वरुण, देवांश श्रीवास्तव, भानू यादव, रूद्राक्ष संभव, आयुष अग्रवाल, एबीवीपी नीलांबुज राय, एकरार अहमद, रोहित सिंह आदि उपस्थित थे।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/ejvOMAAA

📲 Get Azamgarh News on Whatsapp 💬