[dehradun] - यहां रोजगार के लिए युवाओं ने किया ऐसा काम, जिसने बढ़ा दी सरकार के दिल की धड़कने

  |   Dehradunnews

यहां रोजगार पाने क लिए युवा ऐसा काम कर रहे हैं कि इससे सरकार की परेशानी बढ़ गई है। रोजगार व आजीविका के लिए उत्तराखंड में युवाओं का सबसे ज्यादा पलायन हुआ है। इसका खुलासा ग्राम्य विकास एवं पलायन आयोग की ओर से कराए गए सर्वे की रिपोर्ट में हुआ है।

10 सालों के भीतर 26 से 35 आयु वर्ग के 42.25 प्रतिशत युवाओं को रोजगार के लिए पैतृक गांव छोड़ना पड़ा। वहीं, 25 साल से कम आयु वर्ग के 28.66 प्रतिशत युवाओं ने बेहतर उच्च शिक्षा व आजीविका के लिए पलायन किया।

प्रदेश में पलायन की स्थिति और कारणों को जानने के लिए पहली बार सरकार ने पलायन आयोग का गठन कर प्रदेश की 7950 ग्राम पंचायतों में सर्वे कराया। शनिवार को सरकार की ओर से जारी पलायन आयोग की सर्वे रिपोर्ट में कई चौंकाने वाले तथ्यों का खुलासा हुआ है।

उत्तरकाशी के मौरी और हरिद्वार जिला के नारसन विकासखंड को छोड़कर प्रदेश के सभी पंचायतों से युवाओं ने रोजगार, शिक्षा के लिए पलायन करने का विकल्प चुना। रिपोर्ट के अनुसार हरिद्वार, चंपावत, नैनीताल, चमोली, ऊधमसिंह नगर जिले 26 से 35 आयु वर्ग के युवाओं का पलायन करने में सबसे आगे हैं।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/YNIxzAAA

📲 Get Dehradun News on Whatsapp 💬