[gonda] - सीबीएसई बोर्ड से स्कूल चलाने को बनेगा 2

  |   Gondanews

तीन करोड़ से सकरौरा में बनेगा ट्रांजिट हॉस्टल करनैलगंज (गोंडा)। जिले में केवल तीन आश्रम पद्घति स्कूलों का संचालन हो रहा है। इसमें गोंडा नगर, धानेपुर व करनैलगंज के सकरौरा में। प्रदेश सरकार ने सभी आश्रम पद्घति स्कूलों को सीबीएसई बोर्ड से संचालित कराने पर जोर दिया है। इसके लिए जरूरी है कि बच्चों के साथ शिक्षक व शिक्षणेत्तर कर्मी भी कॉलेज परिसर में ही रुके। इसीलिए शासन ने प्रदेश के सात स्कूलों का चयन किया है। इसमें सकरौरा भी है। यहां पर ट्रांजिट हॉस्टल बनाने के लिए दो करोड़ 83 लाख रुपए स्वीकृत किए गए हैं। निर्माण कार्य कराने की जिम्मेदारी यूपी स्टेट कांस्ट्रक्शन एंड इन्फ्रास्टक्चर डेवलपमेंट कॉर्पोरेेशन लिमिटेड को सौंपी है। ट्रांजिट हास्टल निर्माण के लिए शासन ने कार्यदायी संस्था को 141 लाख की पहली किश्त भी जारी कर दी है।नंवबर 2017 में समाज कल्याण निदेशालय ने आश्रम पद्घति स्कूलों में ट्रांजिट हॉस्टल बनाने के लिए शासन को प्रस्ताव भेजा था। शासन ने 2017-18 में प्रदेश के सात आश्रम पद्घति स्कूलों में निर्माण की मंजूरी देते हुए कार्यदायी संस्था को नामित कर दिया। बीते 15 मार्च को शासन ने जारी आदेश में कार्य कराने की जिम्मेदारी यूपी स्टेट कांस्ट्रक्शन को दिया। गोंडा के सकरौरा में बने आश्रम पद्घति स्कूल में केवल बच्चों के ठहरने के लिए ही हॉस्टल की व्यवस्था है। इनके साथ वार्डन या वहां के चौकीदार ही रहते हैं। ऐसे में शिक्षा की गुणवत्ता पर प्रभाव पड़ रहा था। योगी सरकार बनने के बाद प्रदेश सरकार ने सभी आश्रम पद्घति स्कूलों को सीबीएसई बोर्ड से संचालित करने का फरमान जारी किया था। लेकिन कर्मचारियों व शिक्षकों के रुकने की व्यवस्था न होने के कारण इसमें बाधा आ रही थी। इसी मद्देनजर शासन ने ट्रांजिट हास्टल बनवाने का निर्णय किया है।हॉस्टल बनने से शिक्षकों को होगी सहूलियतआश्रम पद्घति स्कूलों में सरकार बच्चों को शिक्षा, वर्दी, भोजन सहित सभी सामग्री मुफ्त देती है। शिक्षकों व प्रधानाचार्य के रुकने के लिए कोई व्यवस्था नहीं थी। ट्रांजिट हास्टल निर्माण से शिक्षकों के रहने की सहूलियत होगी और बच्चों की पढ़ाई बाधित नहीं होगी। -अंजनी कुमार, जिला समाज कल्याण अधिकारीइनसेटस्थल का चयन हो गया, शीघ्र शुरू होगा कामकरनैलगंज के सकरौरा में ट्रांजिट हॉस्टल बनाने की मंजूरी मिल गई है। शीघ्र ही स्थल का निरीक्षण कर निर्माण कार्य शुरू करा दिया जाएगा। टाइप टू के आवास तीन मंजिल के होंगे।-राजीव त्रिपाठी, अधिशासी अभियंता समाज कल्याण निर्माण निगमफोटो-17

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/a900AwAA

📲 Get Gonda News on Whatsapp 💬