[hathras] - मुठभेड़ में 20 हजार के इनामी दो बदमाश दबोचे

  |   Hathrasnews

पुलिस ने शुक्रवार की रात एटा रोड स्थित गांव अमृतपुर-असदपुर के जंगलों से मुठभेड़ के बाद दो बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया। दोनों बदमाश मवेशी लूटने, किसान की हत्या और गैंगस्टर एक्ट में वांछित थे। दोनों कई दिनों से फरार चल रहे थे। बदमाशों से पुलिस ने असलाह और कारतूस भी बरामद किए हैं।

पुलिस अधीक्षक एसपी सुशील घुले ने कोतवाली पर बताया कि 22 जुलाई 2017 की रात में मुश्ताक पुत्र भूरे निवासी गांव गोला सज्जनपुर थाना बागवाला एटा, आसीन पुत्र बिल्ला बंजारा निवासी नारखी फिरोजाबाद, दिलशाद उर्फ बेदा, बलुआ उर्फ भालू, फैजान, गुलफाम समेत आठ बदमाशों ने कोतवाली के गांव पचौ से दो भैंस चोरी की थीं। वहां पर सो रहे किसान नरेश पुत्र लखपत ने जब इसका विरोध किया तो बदमाशों ने उसकी हत्या कर दी थी। इन्हीं बदमाशों ने रास्ते में एक व्यक्ति से 32 हजार रुपये और मोबाइल की भी लूट की थी। इन लोगों ने 26 जुलाई 2017 को फिर से लूट की वारदात को अंजाम देना चाहा लेकिन पुलिस के पहुंचने पर सभी आरोपी मौका पाकर भाग गए।

शुक्रवार की रात कोतवाल मनोज शर्मा को सूचना मिली कि कुछ संदिग्ध लोग एटा रोड स्थित गांव रतिभानुपर के आस पास देखे गए हैं। कोतवाल, निरीक्षक गजराज सिंह, कोमल सिंह, शीलेश कुमार, कौशलेंद्र, अजब सिंह, अजयपाल विजय कुमार, चंद्रपाल आदि ने गश्त शुरू कर दी। गांव अमृतपुर असदपुर के जंगलों में पुलिस ने कुछ लोगों को टोका तो उन्होंने पुलिस पार्टी पर फायरिंग कर दी। पुलिस ने जवाबी फायरिंग करते हुए दो आरोपियों को मौके से दबोच लिया। इनके पास से दो तमंचे, चार जिंदा कारतूस तथा कई चले हुए कारतूस बरामद हुए हैं। इन दोनों बदमाशों पर सिकंदराराऊ कोतवाली में पांच-पांच मुकदमे कायम है। एटा, अलीगढ़, मथुरा में भी कई वारदात की हैं। आरोपियों ने इनके पास से मुश्ताक और आसीन बताए। न्यायालय में पेश करने के बाद दोनों आरोपियों को जेल भेज दिया।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/a4yO6wAA

📲 Get Hathras News on Whatsapp 💬