[ludhiana] - अंधे कत्ल मामले की गुत्थी सुलझाई

  |   Ludhiananews

बेटी को करता था तंग परेशान, कर दी हत्यापुलिस ने सुलझाई अंधे कत्ल की गुत्थी, जांच में हुआ खुलासापुलिस ने हत्या के तीनों आरोपियों को किया गिरफ्तारअमर उजाला ब्यूरोसंगरूर। जिला पुलिस ने अंधे कत्ल की गुत्थी सुलझाते हुए तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। मरने वाला मुख्य आरोपी की बेटी को परेशान करता था। उसने अपने दो साथियों के साथ मिलकर उसकी हत्या कर दी। हालांकि पहले मामला सड़क हादसे का दर्ज हुआ बाद में गहनता से जांच करने पर मामला हत्या का निकला।एसपी हरमीत सिंह हुंदल और डीएसपी सुखदेव सिंह बराड़ ने बताया कि एक अक्तूबर 2017 को शेर सिंह वासी लक्खेवाल के बयान के मुताबिक उनके बेटे योधवीर सिंह की 30 सितंबर को सड़क हादसे में मौत हो गई थी। मामला भवानीगढ़ थाने में दर्ज हुआ लेकिन पास के गांव में चर्चा थी कि युवक की मौत सड़क हादसे में नहीं हुई बल्कि उसकी हत्या की गई थी। भवानीगढ़ थाने के प्रभारी विजय कुमार ने मामले की गहनता से जांच की तो सामने आया कि योधवीर सिंह की मौत सड़क हादसा नहीं बल्कि एक साजिश के तहत जसवंत सिंह, मनदीप सिंह और सुखविंदर सिंह तीनों निवासी नूरपुरा भवानीगढ़ ने मिलकर की। पुलिस ने तीनों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस पकड़ में आने के बाद तीनों ने अपना जुर्म कबूल कर लिया। उन्होंने कहा कि योधवीर सिंह काफी समय से जसवंत सिंह की बेटी पर बुरी नजर रखता और उसका अक्सर पीछा करता था। 30 सितंबर 2017 की शाम जब योधवीर सिंह सिंह उनके घर के पास आया तो जसवंत सिंह, मनदीप सिंह और सुखविंदरसिंह ने मिलकर योधवीर सिंह की बुरी तरह से पिटाई की। इसमें उसकी मौत हो गई। उन्होंने इस कत्ल को छिपाने के लिए योधवीर सिंह की लाश को नाभा-चन्नों रोड गांव लक्खेवाल के पास सड़क पर फेंक दिया था ताकि यह कत्ल की बजाय हादसा लगे। -----------------------------फोटो:05एसजीआरपी01: संगरूर में पत्रकारों को जानकारी देते पुलिस अधिकारी।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/WfvlXAAA

📲 Get Ludhiana News on Whatsapp 💬