[sitapur] - आदमखोरों से निपटने को दिल्ली और लखनऊ से बुलाई गई टीमें

  |   Sitapurnews

12 में मासूम की मौत के बाद टूटी प्रशासन की कुंभकर्णी नींद, मदद की लगाई गुहारसीतापुर। बढ़ता हुआ आदमखोर कुत्तों का आतंक, फेल होता सरकारी सिस्टम और आए दिन जाती मासूमों की जान से जहां आम जनमानस के सब्र का पैमाना छलकने लगा। वहीं मौत के आंकड़ों की इंतहा होने के बाद प्रशासन की कुंभकर्णी नींद टूटी है। शनिवार को जब आदमखोर कुत्तों ने 12 वें मासूम की जान ली, तब कहीं जाकर प्रशासन को लगा कि अब पानी सिर के ऊपर से गुजर रहा है। इसके बाद इन कुत्तों से निपटने के लिए लखनऊ व दिल्ली से मदद मांगी गई। बताया जा रहा है कि रविवार तक दिल्ली व लखनऊ की टीम जिले में पहुंच जाएगी। इसके बाद दिल्ली, लखनऊ व मथुरा की टीमें अलग-अलग स्थानों पर अभियान चलाकर आदमखोर कुत्तों से निपटेंगी। यहां बता दें कि जिले में जब मासूमों की मौत का आंकड़ा नौ तक पहुंचा था, तब प्रशासन ने मथुरा की टीम को आदमखोर कुत्तों से निपटने के लिए बुलाया था। इसके मथुरा की टीम अभियान चलाती रही, बावजूद इसके कुत्तों ने अपना हमला जारी रखा। नतीजा 4 मई को कुत्तों ने खैराबाद थाना क्षेत्र के मासूमपुर, चौबेपुर व शहर कोतवाली के पीरपुर व बुढ़ानापुर गांवों में हमला बोला। मासूमपुर की गीता देवी व बुढ़ानापुर के वीरेंद्र को आदमखोरों ने अपना निवाला बनाया। जबकि चौबेपुर की रिंकी व पीरपुर का विकेल जख्मी कर दिया। इन घटनाओं से स्पष्ट हो गया था कि प्रशासन ने आदमखोर कुत्तों से निपटने के लिए जो इंतजाम किए थे, वे पूरी तरह से फेल हैं। बावजूद इसके प्रशासन उतने ही संशाधन को पर्याप्त मान रहा था। इसी बीच 5 मई को कुत्तों ने तालगांव के भगौतीपुर गांव में हमला बोला। यहां पर कुत्तों ने गांव के जाबिर के पुत्र कासिम (10) को अपना निवाला बना डाला। इस मौत से मासूमों की मौत का आंकड़ा 12 तक पहुंच गया। तब कहीं जाकर प्रशासन को लगा कि उसके इंतजाम नाकाफी है। फिर क्या था आननफानन लखनऊ व दिल्ली संपर्क किया गया और आदमखोरों कुत्तों से निपटने के लिए टीमों को बुलाया। सबकुछ ठीक रहा तो ये टीमें शनिवार देर रात तक जिले में पहुंच चुकी होंगी, जो रविवार की भोर से अपना काम शुरू करेंगी। प्रशासन के अधिकारियों ने भी इस बात की पुष्टि की है कि लखनऊ व दिल्ली से एक्सपर्ट टीमें बुलाई गई हैं।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/pFBAnQAA

📲 Get Sitapur News on Whatsapp 💬