[varanasi] - भूमि पूजन कर विवादों में घिरे बीएचयू कुलपति, सपा MLC ने लगाए गंभीर आरोप

  |   Varanasinews

बीएचयू में मातृ शिशु चिकित्सालय (एमसीएच विंग) की शनिवार को नींव डाली गई। कुलपति प्रो. राकेश भटनागर ने भूमि पूजन किया। इस भूमि पूजन को लेकर बीएचयू कुलपति विवादों में घिर गए हैं। सपा एमएलसी और बीएचयू के छात्र नेता रहे शतरुद्र प्रकाश ने पूजन पद्धति का विरोध जताया है।

रविवार को उन्होंने बयान जारी कर कुलपति राकेश भटनागर पर भारतीय धर्म परंपरा और संस्कृति के तिरस्कार का आरोप लगाया है। उन्होंने सवाल किया कि अगर कुलपति को भारतीय पूजा पद्धति का ज्ञान नहीं तो उन्हें ऐसा करना ही नहीं चाहिए। इस तरह की अज्ञानता से तो उन्होंने न केवल अपने पद बल्कि बीएचयू की गरिमा को गिराया है।

सपा नेता का कहना है कि पूजा पद्धति के तहत भूमि पर पालथी लगा कर, सिर को ढंक कर बैठ कर ही विधि विधान से भूमि पूजन किया जाता है। खड़े हो कर आहुति देने की कोई विधा नहीं है भारतीय पूजन पद्धति में। शतरुद्र प्रकाश ने सवाल उठाते हुए कहा कि भारतीय पूजा पद्धति और बीएचयू की आदर्श परंपरा का ज्ञान तो कम से कम कुलपति को होना ही चाहिए।

कुलपति राकेश भटनागर को कम से कम विश्वविद्यालय के कुलगीत, 'मधुर मनोहर अतीव सुदर ये सर्व विद्या की राजधानी' का ही स्मरण कर लेना चाहिए था। सपा नेता ने कहा कि अगर कुलपति को पूजा पद्धति का ज्ञान नहीं तो पूजन करने की जरूरत ही क्या थी। फीता काट कर शिलान्यास कर देते।

इस तरह के कृत्य से जगहंसाई तो नहीं करानी चाहिए थी। इससे पद की गरिमा भी गिरी है। उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री या कोई विदेशी राष्ट्राध्यक्ष हो सभी भूमि पूजन को विशेष महत्व देते हैं। लेकिन बीएचयू के कुलपति ने सारी परंपराओं को ही तोड़ दिया है।

बीएचयू के इतिहास में यह पहले कुलपति हैं जिन्होंने ऐसा आचरण किया है। इसके लिए इन्हें सार्वजनिक रूप से खेद प्रकट करना चाहिए।

अभी इस मामले में बीएचयू कुलपति का बयान सामने नहीं आया है।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/BpsktgAA

📲 Get Varanasi News on Whatsapp 💬