[varanasi] - सड़क दुर्घटनाओं में मार्शल चालक की मौत, आठ लोग घायल

  |   Varanasinews

जौनपुर। जिले के अलग-अलग स्थानों पर हुई सड़क दुर्घटनाओं में मार्शल चालक की मौत हो गई। आठ लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। घासलों का उपचार के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। हादसे ने एक सिपाही भी पत्नी और बच्चे के साथ घायल हो गए। शाहगंज: आजमगढ़ जनपद के मोलनापुर गांव निवासी अब्दुल जब्बार (62) व एहतेशाम (22) बाइक से शाहगंज आ रहे थे। जनपद सीमा के समीप अज्ञात वाहन की चपेट में आने से दोनों गम्भीर रुप से घायल हो गए। उपचार के लिए राजकीय पुरुष चिकित्सालय में भर्ती कराया। दूसरी घटना इसी कोतवाली क्षेत्र के फैजाबाद मार्ग स्थित जोगी बांध पुलिया से टकराकर बोलेरो खाई में पलट गई। जिससे चालक गम्भीर रुप से घायल हो गया। आजमगढ़ जनपद के अहरौला थाना के माहुल गांव निवासी सत्यपाल यादव पुत्र सभाजीत अपनी बुलेरो लेकर शाहगंज स्टेशन से अपने भाई को लेने के लिए निकला था। वाहन उनका चालक गांव का ही निवासी शनि यादव चला रहा था। जोगी बांध के समीप सामने से आ रही ट्रक को पास देने में बोलेरो अनियंत्रित होकर पुलिया से टकरा गई। जिसमें वाहन का टायर फट गया। बोलेरो सड़क किनारे खाई में जा गिरी। घटना में चालक शनि गम्भीर रुप से घायल हो गया। उधर, क्षेत्र के बीबीगंज पुलिस चौकी पर तैनात सिपाही गणेश प्रताप सिंह (50) अपनी पत्नी संध्या सिंह (45) व पुत्र शुभम (15) के साथ शनिवार की शाम बाइक से बीबीगंज से शाहगंज आ रहे थे। ताखा पूरब गांव स्थित गन्ना कृषक महाविद्यालय के समीप संध्या सिंह की साड़ी बाइक के चक्के में फंसने से बाइक असंतुलित होकर गिर गई। जिसमें तीनो लोग गम्भीर रुप से घायल हो गए। घायलों को उपचार के लिए राजकीय पुरुष चिकित्सालय में भर्ती कराया गया। मछलीशहर: कोतवाली के राम नगर चौराहे पर बीती रात दो बाइक में सीधी टक्कर हो गई। जिससे एक युवक गंभीर रूप से घायल हो गया। कोतवाली के कौरहा गाँव निवासी मनीलाल (45) व उसी गाँव के आदित्य (30 ) निजी कार्य से कही गए हुए थे। लौटते समय दोनों मछलीशहर मडियाहूं मार्ग पर रामनगर चौराहे पर पहुंचे थे। विपरीत दिशा से आ रही एक अनियंत्रित बाइक से टक्कर हो गई। जिसमें मनीलाल बाइक से छिटक कर दूर जा गिरे। आस पास के लोगों ने दोनों को एम्बुलेंस से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया। जहां पर मनीलाल का हालत नाजुक देख चिकित्सकों ने जिला अस्पताल रेफर कर दिया। जबकि आदित्य का इलाज सीएचसी में चल रहा है। महाराजगंज: क्षेत्र के लोहिन्दा चौराहे के समीप शुक्रवार की देर शाम नशे में धुत मार्शल चालक अरविंद सिंह अनियंत्रित होकर सड़के के किनारे गड्ढे में पलट गया। जिससे गम्भीर चोटें आईं। उपचार के दौरान देर रात उसकी मौत हो गई। क्षेत्र के अमारी गांव निवासी अरविंद सिंह अपने पड़ोसी विनय कुमार सिंह की मार्शल लेकर लोहिन्दा चौराहे पर जा रहे था। गाड़ी अनियंत्रित होकर खाई में पलट गई। जिससे अरविंद कुमार को गंभीर चोट आई। वहां मौजूद लोगों ने उसे किसी तरह वाहन से बाहर निकाला। महराजगंज के एक निजी चिकित्सालय ले गए। जहां डाक्टर ने प्राथमिक उपचार करने के बाद छोड़ दिया। घर पहुंचने के बाद देर रात उसकी मौत हुई।परिवार के मुखिया की भी हालत बिगड़ी जौनपुर। धर्मापुर ब्लॉक के करमहीं गांव में एक सप्ताह के भीतर सास बहू की मौत के बाद शनिवार को परिवार के मुखिया अशोक मिश्र की भी हालत बिगड़ गई। बेहतर उपचार के लिए जिला अस्पताल से उन्हें भी बीएचयू रेफर कर दिया गया। अशोक के दो बेटों का इलाज पहले से ही बीएचयू में चल रहा है। मालूम हो कि करमहीं गांव निवासी अशोक कुमार मिश्र की पत्नी उर्मिला तथा उनकी पुत्रवधू कविता मिश्रा की इस बीमारी से एक सप्ताह के भीतर मौत हो गई। उनके दो पुत्र नीरज और धीरज को बीएचयू में भर्ती कराया गया है। अब परिवार के तीन सदस्यों अशोक कुमार मिश्र, धीरज मिश्र एवं नीरज मिश्र की हुई गंभीर हालत के चलते गांव हड़ंकम मचा है।भैंस चोरी को लेकर मारपीट, फायरिंग, आगजनी मारपीट में दो महिलाओं समेत आठ घायल पुलिस ने तीन को लिया हिरासत में अमर उजाला ब्यूरो जौनपुर। महराजगंज थाना क्षेत्र के लमहन गांव में शनिवार को भैंस चोरी के विवाद को लेकर मारपीट, आगजनी और हवाई फायरिंग हुई। पूर्व जिला पंचायत सदस्य समेत आठ लोग घायल हो गए। पुलिस ने तीन लोगों को हिरासत में लिया है। पूर्व जिला पंचायत सदस्य की पिस्टल छीन ली गई थी जिसे शाम तक पुलिस ने बरामद कर लिया। घटना से गुस्साए लमहन महावत बस्ती के लोगों ने सड़क पर जाम लगा दिया। पुलिस ने घंटे भर बाद जाम समाप्त करवाया। बदलापुर थाना क्षेत्र के सरोखनपुर गांव निवासी एंव पूर्व जिला पंचायत सदस्य सुरेश सरोज की भैंस दो मई की रात चोरी हो गई थी। उस रात सुरेश के परिवार के लोग किसी वैवाहिक समारोह में शामिल होने बाहर गए थे। घर लौटने के बाद जब भैंस चोरी का पता चला तो वह खोजबीन में लग गए। सुरेश को जानकारी हुई कि उनकी भैंस महराजगंज थाना क्षेत्र के लमहन गांव की एक बस्ती में बंधी है। वह शुक्रवार को लमहन गांव में पुलिस बल के साथ पहुंचे और भैंस की पचान कर बताया कि वह उनकी ही भैंस है। सुरेश भैंस खूंटे से छोडने लगे तभी बस्ती की महिला ने उन्हें भैंस छोडने से मना करते हुए कहा कि यह भैंस उन्हें महराजगंज थाने में तैनात एक सिपाही ने दिया है। सिपाही का नाम आते ही साथ में गए पुलिस के जवानों ने यह कहते हुए सुरेश को लेकर वापस चले गए कि अगले दिन थाना दिवस है। थाना दिवस समाप्त होने के बाद इस मामले का निबटारा होगा। शनिवार को करीब 11 बजे बदलापुर थाने के एक दरोगा और पांच की संख्या में सिपाही और करीब बाइक पर सवार 50 की संख्या में लोगों के साथ सुरेश लमहन गांव पहुंच गए। पुलिस की गाड़ी आठ सौ मीटर पहले सड़क पर रुक गई जबकि सुरेश अपने समर्थकों के साथ बस्ती में पहुंच गए और सीधे खूंटे में बंधी भैंस छोडने लगे। इतने में बस्ती के लोगों ने उनपर हमला बोल दिया। खुद दो घिरता देख सुरेश ने अपनी लाइसेंसी पिस्टल से हवाई फायरिंग कर दी। दोनों पक्षों में मारपीट हो गई जिसमें सुरेश, प्रदीप, दिलीप और लमहन बस्ती की शमसाद की पत्नी शायदा (26), सबीना, सिराजुल, शाहजहां, गुलशेर को भी चोट आई है। बस्ती के लोगों ने सुरेश की लाइसेंसी पिस्टल छीन ली। मारपीट के दौरान ही गुलजार, सोहराब और शमसाद के रिहायशी मड़हे में आग लग गई। अफरातफरी मच गई। सूचना पर महराजगंज थाने की फोर्स भी पहुंच गई। पुलिस ने मौके से सुरेश, दिलीप और प्रदीप को हिरासत में ले लिया। घटना से गुस्साए लमहन गांव के लोगों ने गांव में इलाहाबाद बदलापुर मार्ग को जाम कर दिया। पुलिस ने समझा बुझाकर घंटे भर बाद जाम समाप्त करा दिया। सीओ सौम्या पांडेय का कहना है कि गांव के लोग खुद जबरन भैंस छोडने गए थे। मारपीट की सूचना पर पुलिस पहुंची तो मामला शांत कराया। घटना की जांच कराकर कार्रवाई की जाएगी।पत्रकार पर हमले के आरोपी को जेलसुईथाकला। खेतासराय में पत्रकार व उसके साथियों पर हमले के आरोपी की शनिवार को एसडीएम शाहगंज ने जमानत खारिज कर दी। उसे जेल भेज दिया गया। अगली सुनवाई 17 मई को होगी। वाहन ओवरटेक करने में हुई कहासुनी में संतोष पांडेय व उनके साथियों पर कुछ लोगों ने लोहे की राड से हमला कर दिया गया था। इसमें संतोष के अलावा गुलाम साबिर, मोहम्मद मुस्तकीम व मोहम्मद शकील घायल हो गए थे। इस मामले में पुलिस ने हिस्ट्रीशीटर मझौरा निवासी फैजान व उसके भाई रिजवान, जमदहां निवासी एजाज, चालक सहित दो अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था। पुलिस ने रिजवान का शनिवार को शांति भंग में चालान कर दिया। उपजिलाधिकारी ने उसकी जमानत खारिज करते हुए जेल भेज दिया।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/xyMNxAAA

📲 Get Varanasi News on Whatsapp 💬