🤦‍♂️15 मई से फिर शुरू हो सकता है आरक्षण के लिए गुर्जरों का आंदोलन👥👥

  |   समाचार

आरक्षण की मांग को लेकर एक बार फिर गुर्जर समाज सड़कों पर उतरने जा रहा है. राजस्थान के भरतपुर में एक बैठक के बाद गुर्जर संघर्ष समिति के प्रवक्ता हिम्मत सिंह ने इस बारे में जानकारी देते हुए मीडिया के सामने कहा कि पांच प्रतिशत आरक्षण देने की मांग को लेकर फिर से आंदोलन करने का फैसला लिया गया है. उन्होंने बताया कि गुर्जरों ने फिर से आंदोलन शुरू करने का निर्णय किरोडी सिंह बैंसला के नेतृत्व में लिया. समाज के सभी नेताओं और लोगों को सरकार पर आरक्षण की मांग पर दबाव बनाने के लिए 15 मई को 'पीलू का पुरा' में आयोजित महापड़ाव में शामिल होने के लिए कहा गया है.

गुर्जर संघर्ष समिति के प्रवक्ता हिम्मत सिंह ने कहा कि, गुर्जर समाज को वर्तमान में अति पिछड़ा वर्ग के तहत एक प्रतिशत आरक्षण मिल रहा है, लेकिन हमारी मांग है कि गुर्जर और अन्य जातियों को अन्य पिछड़ा वर्ग में से पांच प्रतिशत आरक्षण दिया जाए.

जानकारी के मुताबिक, बैठक में गुर्जर नेताओं द्वारा आरक्षण को लेकर राजस्थान सरकार की कार्यप्रणाली को लेकर काफी विरोध किया गया. मांग को लेकर कोई विशेष कदम नहीं उठाए जाने से नाराज होकर एक बार फिर आंदोलन करने का फैसला लिया गया. बैठक में इस बात पर भी नाराजगी जाहिर की गई कि आरक्षण को लेकर जो बिल खारिज हुआ, उसे लेकर भी सरकार ने रिवीजन याचिका दायर नहीं की. नेताओं ने कहा कि सरकार ने पांच प्रतिशत आरक्षण देने का वादा तो किया, लेकिन उन्होंने इस बात को मजबूती से नहीं रखा यही वजह है कि बिल खारिज हो गया.

संघर्ष समिति के संयोजक कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला ने कहा कि, सरकार हमारे साथ अन्याय कर रही है. हम 21 मई से पहले एक आंदोलन शुरू करेंगे. पीपलखेड़ा, दौसा, सिकंदरा, कोटा पट्टी, अजमेर, पाली, जालोर, भीलवाड़ा और सवाई माधोपुर में एक साथ आंदोलन किया जाएगा.

यहां पढें पूरी खबर—http://v.duta.us/RUeudwAA

📲 Get समाचार on Whatsapp 💬