[aligarh] - मुस्लिम इलाकों में जय श्रीराम के नारों से उपजा तनाव

  |   Aligarhnews

सांप्रदायिक दृष्टि से अतिसंवेदनशील शहर में अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में जिन्ना की तस्वीर को लेकर उपजे विवाद के बीच रविवार को मुसलिम बहुल इलाकों में जय श्रीराम और भारत में रहना है तो वंदे मातरम् कहना होगा जैसे नारे लगाते हुए निकली बाइक रैली तनाव का कारण बन गई।

सुबह-सुबह ऊपरकोट व उससे सटे इलाकों में ‘जय श्री राम’ के नारे लगाते हुए युवा निकले। इनको देख इलाके के लोग भौचक्के रह गए। कुछ लोगों ने तत्काल अपनी दुकानें बंद कर दीं। हालांकि थोड़ी देर बाद दुकानें खुल गईं। इस घटनाक्रम के बाद से चंदन शहीद चौराहे पर सुरक्षा कर्मियों ने डेरा डाल दिया है।

रविवार सुबह करीब 10 बजे करीब 50 युवा 20 बाइक से तुर्कमान गेट, चंदन शहीद चौराहा, काला महल, जयगंज से फर्राटा भरते हुए निकले। हर बाइक पर तीन-चार युवा सवार थे। यह युवा ‘जय श्री राम, भारत माता की जय, भारत में रहना है, तो वंदे मातरम् कहना होगा’ जैसे नारे लगा रहे थे।

इन युवाओं के इस तरह निकलने से इलाके में कुछ देर के लिए दहशत व तनाव की स्थिति बन गई। इसके बाद इलाके के लोग चंदन शहीद चौराहे पर इकट्ठा होने लगे। कुछ लोगों ने इसकी जानकारी पुलिस अधिकारियों को दी। थोड़ी देर में ही बड़ी संख्या में सुरक्षा बल कर्मियों ने चंदन शहीद चौराहे पर डेरा डाल दिया।

सुरक्षा कर्मियों के डेरा डालने से स्थिति सामान्य रही। इलाके के लोगों का कहना है कि कासगंज में 26 जनवरी को तिरंगा यात्रा को लेकर दंगा हो गया था। ठीक उसी तरह के हालात रविवार को पुराने शहर में पैदा करनी की कोशिश की गई। उधर, ऊपरकोट कोतवाली के इंस्पेक्टर राजीव सिरोही का कहना है कि बाइक रैली में शामिल युवाओं को चिह्नित किया जा रहा है। उनकी धरपकड़ होगी। उनसे बाइक रैली निकालने की वजह पूछी जाएगी।

शहर मुफ्ती ने डीएम से की शिकायत

शहर मुफ्ती मोहम्मद खालिद हमीद ने बाइक सवार युवाओं के मुस्लिम इलाकों में धार्मिक नारे लगाते हुए निकलने पर चिंता जाहिर की है। उन्होंने तत्काल इस संबंध में डीएम चंद्रभूषण सिंह व एसपी सिटी अतुल कुमार श्रीवास्तव से इसकी शिकायत की। शहर मुफ्ती ने कहा कि युवाओं के इस तरह से निकलने से शहर में तनाव की स्थिति पैदा हो सकती थी। मगर सबने सूझबूझ का परिचय दिया।

युवाओं पर रासुका लगाने की मांग

मुस्लिम बहुल मोहल्लों से बाइक सवार युवाओं के धार्मिक नारे लगाने के बाद काला महल के एक दर्जन से अधिक लोग ज्ञापन तैयार कर ऊपर कोट कोतवाली पहुंच गए। इन लोगों ने बाइक सवारों पर रासुका लगाने की मांग को लेकर सीओ सिटी प्रथम विशाल पांडेय को ज्ञापन सौंपा। इस मौके पर पूर्व विधायक जमीर उल्लाह खान भी मौजूद रहे। हस्ताक्षरयुक्त ज्ञापन में लोगों ने कहा कि युवाओं पर कड़ी कार्रवाई की जाए, क्यों कि यह लोग कासगंज जैसी घटना को अंजाम दे सकते हैं। उन्होंने मांग की चंदन शहीद, बाबरी मंडी, जयगंज डाकखाने के सीसीटीवी कैमरे के फुटेज से युवाओं की पहचान की जाए और उन पर रासुका के तहत कार्रवाई हो। पूर्व विधायक ने कहा कि शहर का अमन-चैन बिगाड़ने की कोशिश की जा रही है। यह सिर्फ कर्नाटक चुनाव को देखते हुए किया जा रहा है।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/rLjvuAAA

📲 Get Aligarh News on Whatsapp 💬