[allahabad] - आखिर कौन सी मजबूरी, उमा ने बनाई दूरी!

  |   Allahabadnews

केंद्रीय पेयजल एवं स्वच्छता मंत्री उमा भारती के छह दिन के इलाहाबाद प्रवास पर भाजपाई खासे असमंजस में है। उमा भारती ने स्थानीय पदाधिकारियों से भी दूरी बनाए रखी है। रविवार को कुछ भाजपाई उनसे मिलने गए, लेकिन उनके हाथ निराशा ही लगी। इस दौरान उमा भारती सर्किट हाउस में अपने कुछ करीबियों से ही मिली। यहां उमा भारती के साथ आए उनके सहयोगी संजय चतुर्वेदी के साथ राष्ट्रीय संयोजक गंगा स्वच्छता मंच के पदाधिकारियों से मुलाकात की। इस दौरान आठ मई को झूंसी में होने वाली गंगा चौपाल पर चर्चा की गई।

अपने जन्म दिन के मौके पर तीन मई से उमा भारती इलाहाबाद में ही है। यहां उनके आठ मई तक रुकने का कार्यक्रम है। छह दिवसीय प्रवास को लेकर भाजपाई तमाम तरह की चर्चा कर रहे हैं। इस बात पर भी जोर दिया जा रहा है कि वर्ष 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव में वे इलाहाबाद या फूलपुर संसदीय क्षेत्र में राजनीतिक जमीन तलाशने पर मंथन कर रही है। हालांकि इन चर्चाओं के बीच मध्य प्रदेश के भोपाल स्थित उनके कार्यालय से स्पष्टीकरण जारी कर बताया गया है कि उमा अपने निजी कार्यक्रम से इलाहाबाद आई है। उधर रविवार को बताया गया कि उमा भारती मंगलवार आठ मई को झूंसी के त्रिवेणीपुरम में गंगा चौपाल कार्यक्रम में शिरकत करेंगी। इस कार्यक्रम की तैयारियों को लेकर सरकिट हाउस में भाजपा नेता अनामिका चौधरी और उमा भारती के सहयोगी संजय चतुर्वेदी एवं कार्यक्रम से जुड़े अन्य लोगों की बैठक हुई। बैठक में संजय ने गंगा की स्वच्छता के काम में और अधिक लोगों को जोड़े जाने पर बल दिया। बैठक में ओंकार नाथ त्रिपाठी, राधेश्याम केसरवानी, कैप्टन सुनील कुमार निषाद, गगन निषाद, राजेश शर्मा, राज लक्ष्मी तिवारी, रश्मि शुक्ला, राजेश केसरवानी आदि मौजूद रहे।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/HojANQAA

📲 Get Allahabad News on Whatsapp 💬