[azamgarh] - दो घंटे में दो सड़क हादसे, दादा, बेटे और पोते ने गंवाई जान

  |   Azamgarhnews

आजमगढ़ के एक परिवार के लिए रविवार का दिन काला दिन साबित हुआ। दो घंटे के अंतराल में हुए दो सड़क हादसों में दादा, बेटा, पोता काल के गाल में समा गए। जबकि परिवार का एक अन्य सदस्य घायल हो गया। जिसका जिला अस्पताल में इलाज चल रहा है।

कप्तानगंज थाना क्षेत्र के कौड़िया गांव निवासी रामकुंवर वर्मा (45) दिव्यांग था। वह ट्राइसाइकिल से चलता था। दो मई को वह किसी रिश्तेदारी में गया था। शनिवार की रात आठ बजे वहां से लौटते समय अहरौला बाजार के पास किसी वाहन की टक्कर से घायल हो गया। लोगों ने उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

इधर, रामकुंवर के घायल होने की सूचना पर उसके पिता रामविनय वर्मा (65) अपने दूसरे बेटे सभई (35) और रामकुंवर के छोटे बेटे हिमांशु (15) के साथ एक बाइक से जिला अस्पताल के लिए निकले। बाइक चालक ने हेलमेट नहीं पहना था।

रात करीब साढ़े दस बजे बाइक कंधरापुर थाना क्षेत्र के सेहदा गांव के पास पहुंची कि तेज रफ्तार कार की टक्कर से रामविनय और हिमांशु की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि सभई घायल हो गया। जिसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां उसकी हालत गंभीर बनी हुई है।

उधर, परिवार के तीन सदस्यों की मौत और चौथे के गंभीर रूप से घायल होने से परिवार के एकलौते वारिस बचे पंकज पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा। रविवार को पोस्टमार्टम के बाद उसने एक साथ अपने भाई, पिता और दादा को कंधा दिया। यह देख वहां खड़े हर किसी की आंखें नम हो गई।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/C_m_AAAA

📲 Get Azamgarh News on Whatsapp 💬