[ghazipur] - उफ ! आसमान से बरसी आग, झुलसा तन

  |   Ghazipurnews

गाजीपुर। मौसम में निरंतर परिवर्तन के बाद पिछले दो दिनों से तीखी धूप निकल रही है। पारा तेजी से चढ़ने के कारण हर आदमी परेशान रहा। ऐसा लग रहा था कि आसमान से बरस रहे अंगारे ने तन को झुलसा दिया है। आलम यह है कि धूप कुछ देर खड़ा रह पाना लोगों के लिए संभव नहीं हो पा रहा था। मौसम की मार से जनजीवन पूरी तरह से बेहाल है। तेज धूप से चेहरा न झुलसे, इसके लिए खासकर युवतियां और महिलाएं चेहरे को पूरी तरह से ढंक कर आवागमन करते नजर आ रही हैं। हर किसी के जुबां पर बस यही बात है कि मौसम के तप से कैसे राहत मिलेगी।पिछले करीब चार हफ्ते से जहां मौसम में उतार-चढ़ाव हो रहा है, वहीं धूप और बदली के बीच कई बार तेज हवा के साथ आंधी-पानी भी तबाही मचा चुकी है। तीन दिन से मौसम का मिजाज काफी गर्म है। आलम यह है कि सुबह नौ बजे ही लोगों को धूप की तेजी का एहसास होने लग रहा है, जो सूर्य अस्त तक बना रह रहा है। तेज धूप के बीच एक पल भी खड़ा रह पाना संभव नहीं हो पा रहा है। तप से लोगों का तन झुलस जा रहा है। धूप से बचने के लिए लोगों द्वारा तरह-तरह के उपाय किए जा रहे हैं। बावजूद तपन उनका पीछा नहीं छोड़ रही है। धूप के बीच लोग घरों से निकल रहे हैं, जिनकी कुछ मजबूरी है। आवागमन के बीच पल-पल लोगों को पानी की आवश्यकता महसूस हो रही है। मौसम के तल्ख तेवर का खराब असर बाजार पर भी पड़ रहा है। नाममात्र के लोग ही बाजारों में दिखाई दे रहे हैं। चहल-पहल वाले मार्गों पर भी सूर्यास्त तक सन्नाटा पसरा रह रहा है। बाजार में रौनक न होने से दुकानदार भी पूरे दिन हाथ पर हाथ धरे बैठे रह रहे। सूर्य ढलने के बाद ही उनकी दुकानों पर खरीददारों के पहुंचने का क्रम शुरू हो रहा है।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/2xJOswAA

📲 Get Ghazipur News on Whatsapp 💬