[haridwar] - एक, दो नहीं बल्कि करनी थी सात हत्याएं

  |   Haridwarnews

हरिद्वार/बहादराबाद। प्रेमिका के पति के खून से हाथ रंगने वाले सिरफिरे मंजीत ने पहले ही ऐलान कर दिया था कि वह उसके प्रेम में रोड़ा बने संजय का कत्ल कर देगा। यही नहीं उसका निशाना केवल संजय ही नहीं था बल्कि प्रेमिका के दो चाचा, बिचौलिए और रिश्तेदारों का भी कत्ल करने की धमकी दी थी। इस तरह की चर्चा अब गांव में तेजी से हो रही है। प्रेमिका के पति और रिश्तेदारों के अलावा तेलूराम भी उसका जानी दुश्मन था, पर संयोग से उसकी जान बच गई। गांव बहादरपुर सैनी में घटी वारदात से एक बात बेहद साफ है कि मंजीत के सिर पर खून सवार था। प्रेम में मिली शिकस्त की आग में जल रहे मंजीत के जेहन में बदले की भावना इस कदर घर गई थी कि उसने एक दो नहीं बल्कि सात जिंदगियों को मौत की नींद सुलाने का ताना-बाना बुन डाला। गांव में सुबह के वक्त कोई खेत खलिहान की तरफ दौड़ लगा रहा था तो कोई अपनी दिहाड़ी मजदूरी पर जा रहा था। इसी बीच गांव में अचानक गोलियों की आवाज गूंजने के बाद हर किसी के होश फाख्ता हो गए। बेरोजगार मंजीत के प्रेम प्रसंग से गांव के कुछ लोग वाकिफ थे ही, बकौल ग्रामीण कि मंजीत पहले ही ऐलान कर चुका था कि गांव में खून की होली खेली जानी तय है। वह अपनी प्रेमिका के पति की हत्या जरूर करेगा। उसका निशाना गांव का तेलूराम भी एक खास वजह से है। यही नहीं प्रेमिका की शादी दूसरे युवक से करने में मुख्य भूमिका अदा करने वाले उसके दो चाचा, बिचौलिया और रिश्तेदार भी थे। जाहिर है कि उसे यह पता चल गया था कि संजय अपनी ससुराल आया है तब वह उसके कत्ल करने के इरादे से घर से निकला लेकिन रास्ते में उसका सामना दूसरे जानी दुश्मन तेलूराम से हुआ और उसने उसकी जान लेनी चाही। ----------------------- संजय के परिजनों ने बहू पर लगाए आरोप हरिद्वार। अपने बेटे को खो चुके संजय के परिजनों ने पुलिस से अंदेशा जताया कि हत्याकांड में उनकी बहू यानि मंजीत की प्रेमिका भी शामिल है। उनका आरोप है कि आखिर मंजीत को कैसे पता चला कि संजय अपनी ससुराल आया है। परिजनों ने यह भी बताया कि मंजीत पांच दिन पूर्व भी उनके घर आया था, तब उनके बेटे ने उनकी मुलाकात करवा दी थी। परिजनों की इस आशंका पर स्थानीय पुलिस प्रेमिका और मंजीत के मोबाइल फोन की कॉल डिटेल निकाल रही है।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/QcpwpgAA

📲 Get Haridwar News on Whatsapp 💬