[ludhiana] - महामारी बन चुकी डाइबिटीज व बीपी से किडनी फेल, हर साल हो रही 6 लाख मौतें

  |   Ludhiananews

डायबिटीज और बीपी से हो रही किडनी फेल, हर साल 6 लाख मौतेंकेवल 10 फीसदी का ही हो पाता है सही इलाज, 6 हजार ही होते हैं किडनी ट्रांसप्लांट और 60 हजार जीते हैं डायलसिस परअमर उजाला ब्यूरोलुधियाना। डाइबिटीज और ब्लड प्रेशर की बीमारी किडनी फेलियर का कारण बन रही है। इसकी वजह से देश में हर साल 6 लाख लोग किडनी फेल होने की वजह से मर रहे हैं। ऐसे केवल 10 फीसदी लोगों को सही इलाज मिल पा रहा है। हर साल 6 हजार लोगों को ही किडनी ट्रांसप्लांट की सुविधा मिल पाती है, जबकि 60 हजार लोग डायलसिस पर जी रहे हैं। एसपीएस अस्पताल में हेमोडायलसिस कोर्स पर अपडेट करने के लिए उत्तर भारत के विभिन्न राज्यों से पहुंचे 100 से अधिक टेक्निशियनों को नेफ्रोलॉजी विभाग के सीनियर कंसलटेंट व कोआर्डिनेटर डॉ. राहुल कोहली ने यह जानकारी दी। सीनियर कंसलटेंट डॉ. बख्शीश सिंह ने कहा कि सभी जिला अस्पतालों व छोटे शहरों में भी भले ही डायलिसिस की सुविधा उपलब्ध है, लेकिन क्वालिटी विकसित करने पर जोर देना जरूरी है। आज की इस सीएमई का मकसद रेनल रिप्लेसमेंट थैरेपी (सीआरटी) में हो रही अपडेशन की जानकारी देना है। क्योंकि मेडिकल स्पेशलिस्टों के मुताबिक पिछले एक दशक में डाइबिटीज व ब्लड प्रेशर महामारी के रूप में बढ़ रहा है। जिसकी वजह से क्रोनिक किडनी डिजीज (सीकेडी) भी बढ़ रहे हैं। इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) के मुताबिक देश के रूरल एरिया में 7.5 फीसदी और शहरी हिस्सों में 28 फीसदी तक डाइबिटीज के मरीज बढ़े हैं। इससे सीकेडी में ढाई से लेकर 13 प्रतिशत की बढ़ोतरी हो रही है। चिंता की बात है कि डाइबिटीज की चपेट में आने वाले लोगों की उम्र 20 से 40 साल के बीच है और इसी उम्र में किडनी की समस्या भी होने लगी है। हालांकि सभी जिला अस्पतालों में डायलिसिस की सुविधा मौजूद है, लेकिन जागरूकता के अभाव में लोग इसका फायदा नहीं उठा पाते। किडनी फेलियर की परेशानी झेल रहे अधिकतर मरीज डॉक्टरों की ओर से रिक्मेंड थैरेपी आर्थिक तंगी के कारण नहीं ले पाते। उन्होंने बताया कि पश्चिमी देशों में लोग हफ्ते मेें 3 बार हेमोडायलिसिस की सुविधा लेकर ही 15 से 20 साल तक का जीवन जी लेते हैं। आज की सीएमई का मकसद डायलिसिस टेक्निशियनों को इस संबंध में अपडेट करना है।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/NxJauAAA

📲 Get Ludhiana News on Whatsapp 💬