[mahoba] - आंधी से बर्बाद हुआ महोबा का देशावरी पान

  |   Mahobanews

महोबा।

देश विदेश में मशहूर महोबा के पान पर संकट छा गया है। तेज आंधी की चपेट आने से पान बरेजे धराशाई हो गए। जिससे करीब 80 फीसदी पान की फसल चौपट हो गई है। इससे देशावरी पान फसल को भारी नुकसान हुआ है। आंधी तूफान से करीब 50 लाख की फसल बर्बाद हो गई। एक सैकड़ा पान किसान प्रभावित हुए। प्रकृति की मार से किसानों के सामने रोजी रोटी का संकट पैदा हो गया है।

औषधीय गुणों से भरपूर देशावरी पान का मजा अब लोगों को मुश्किल से मिलेगा। पान बरेजों के जमीन में गिर जाने से पान की बची खुची फसल भी सूखने लगी है। कभी ओलावृष्टि कभी आंधी तूफान की चलते पान की खेती अब घाटे का सौदा बनकर रह गई है। फसल आने की आस लगाए पान किसानों की उम्मीदों पर पानी फिर गया है। पिछले साले पान की फसल पाले की भेंट चढ़ गई और इस साल आंधी तूफान ने बर्बाद कर दिया। साल दर साल पान की फसल को नुकसान होने के कारण तमाम पुश्तैनी पान किसानों ने इससे नाता तोड़ लिया है।

महोबा जिले व आसपास के क्षेत्रों में दो दशक पहले 600 एकड़ भूमि में पान की खेती होती थी। जो अब सिमट कर 7 एकड़ भूमि में रह गई है। बेहद करारेपन के लिए मशहूर देशावरी पान पर संकट छा जाने से पान कृषकों का परिवार भुखमरी की कगार पर पहुंच गया है। आंधी से दो तिहाई से ज्यादा फसल बर्बाद हो गई। इस समय पान लताओं से सबसे पुराने पत्ते तोड़े जाते हैं। जिन्हें पेड़ी का पान कहा जाता है। बेहद कड़क और करारेपन के कारण इसे बेहद पसंद किया जाता है। इसी पान को विदेशों में निर्यात किया जाता है। जिससे पान किसानों को पान की अच्छी कीमत मिलती है लेकिन इस साल पान फसल संकट छा गया।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/vW7lRgAA

📲 Get Mahoba News on Whatsapp 💬