[mirzapur] - डंपर से कुचलकर आईटीआई के छात्र की मौत, एक घायल

  |   Mirzapurnews

अहरौरा/जिगना। अहरौरा क्षेत्र के बभनी गांव के पास शनिवार की मध्य रात डंपर की चपेट में आने से आईटीआई छात्र की मौत हो गई जबकि उसका साथी घायल हो गया। दूसरी घटना विंध्याचल के भटेवरा गांव के पास रविवार की सुबह हुई जिसमें साइकिल सवार युवक की ट्रक की चपेट में आने से मौत हो गई। इस हादसे से नाराज ग्रामीणों ने भटेवरा में तीन घंटे तक चक्काजाम किया। चुनार थाना क्षेत्र के सिरसी कदवा निवासी काशी यादव का पुत्र मनीष यादव (22) अपने साथी विजय (23) पुत्र रामराज निवासी चुनार के साथ बाइक से शनिवार की शाम सोनवर्षा गांव में अपने एक दोस्त की शादी में आया हुआ था। शादी समारोह में शामिल होने के बाद रात्रि दो बजे दोनों युवक वापस घर जाने के लिए वहां से निकले। जैसे ही दोनों युवक बाइक से बभनी स्थित किसान पेट्रोल पंप के समीप पहुंचे कि तभी सामने से तेज गति में आ रहे अनियंत्रित डंपर ने बाइक में धक्का मार दिया। इससे बाइक अनियंत्रित हो गई और दोनों युवक सड़क पर गिर पड़े। मनीष का धड़ डंपर के पिछले हिस्से के पहिए के नीचे आ जाने की वजह से उसकी कुचलकर घटनास्थल पर ही मौत हो गई जबकि उसका साथी विजय दूर करने के कारण गंभीर रूप से घायल हो गया। मनीष और विजय कैलहट स्थित एक कालेज से आईटीआई कर रहे थे । विजय पिछले कुछ वर्ष से भुडकुड़ा स्थित अपने मामा पिंटू के यंहा रहकर पढ़ाई कर रहा था। दोनों छात्रों के साथ हुई दर्दनाक हादसे की खबर मिलते ही परिजनों में कोहराम मच गया । पुलिस ने चालक सहित डंपर को हिरासत में ले लिया है। उधर, मिर्जापुर-इलाहाबाद मार्ग पर विंध्याचल थाना क्षेत्र के भटेवरा गांव के पास रविवार की सुबह ट्रक की चपेट में आने से साइकल सवार युवक की मौत हो गई। नाराज ग्रामीणोें ने मुआवजे की मांग को लेकर 12 से तीन बजे तक चक्काजाम किया। मौके पर पहुंची पुलिस ने जाम समाप्त कराया। विंध्याचल थाना क्षेत्र के अरगी सरपत्ती गांव निवासी झल्लू का पुत्र आशीष कुमार (23) साइकल से गैपुरा की ओर से अपने घर अरगी सरपत्ती जा रहा था। वह जैसे ही भटेवरा गांव के पास पहुुंचा कि पीछे से आ रहे ट्रक ने धक्का मार दिया। इससे आशीष साइकल लेकर सड़क पर गिर पड़ा जिसे कुचलते हुए ट्रक निकल गया। पहिये के नीचे आकर कुचलते ही आशीष की घटना स्थल पर ही मौत हो गई। सूचना पर पहुंचे प्रभारी निरीक्षक विंध्याचल अशोक कुमार सिंह ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजने का प्रयास किया तो लोगों ने मना करते हुए मुआवजा की मांग करने लगे। मौके पर पहुंचे नायब तहसीलदार संतोष कुमार ने मुख्यमंत्री किसान बीमा के तहत लाभ दिलाए जाने की बात कही । लेकिन ग्रामीण तत्काल मुआवजा देने की मांग को लेकर 12 बजे दोपहर तक मिर्जापुर इलाहाबाद मार्ग को जाम किए रखा। जिससे रोड़ पर दोनों तरफ वाहनों की कतार लग गई । करीब सवा एक बजे नायब तहसीलदार व प्रभारी निरीक्षक के इस आश्वासन पर जाम हटाया गया कि पोस्टमार्टम के बाद पांच लाख मुआवजा व एक बीघा जमीन का आवंटन किया जायेगा । मृतक चार भाइयों में तीसरे नंबर पर था ।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/-E4tCAAA

📲 Get Mirzapur News on Whatsapp 💬