[pratapgarh] - दर्द दे रहीं शहर की सड़कें, आंदोलन के बाद भी नहीं बदली सूरत

  |   Pratapgarhnews

शहर की सड़कों को सुधारने के लिए धरना-प्रदर्शन, आंदोलन छेड़ा गया। मगर इसका कोई असर अफसरों पर नहीं पड़ा। शहर की सड़क ों की दशा जस की तस बनी हुई है। नया मालगोदाम रोड, सुमित्रापुरी, बेगमवार्ड, देवकली-सरोज तिराहा मार्ग पर चलना मुश्किल हो गया है। वहीं बेगम वार्ड से कपूर चौराहा और आजाद नगर की सड़क बनाने में आवास विकास परिषद के अफसर चुप्पी साधे हुए हैं। मगर अफसरों पर कोई असर नहीं पड़ रहा है। बरसात में शहरियों का घर से निकलना दूभर हो जाएगा।

शहरियों को कई सड़कें दर्द दे रही हैं। आंदोलन, धरना×प्रदर्शन के साथ ही बार-बार शिकायतों के बाद भी नगर पालिका और लोक निर्माण विभाग ने चुप्पी साध रखी है। इससे लोगों को बरसात में और दिक्कत का सामना करना पड़ेगा। इतना ही नहीं, नया माल गोदाम रोड, देवकली से लेकर सरोज चौराहा जाने वाली सड़क की दशा सुधारने के लिए मोहल्ले के लोग धरना-प्रदर्शन भी कर चुके हैं। यहां तक कि आंदोलित लोगों को समझाने के लिए अधिकारियों को पहुंचना पड़ा।

संबंधित विभाग के अधिकारियों ने ऐसे मार्गों की मरम्मत शीघ्र कराए जाने का आश्वासन देकर प्रदर्शन स्थगित करा दिया। अफसरों से मिली समय सीमा बीत जाने के बाद भी सड़कों का निर्माण कार्य प्रारंभ नहीं हो सका। नया मालगोदाम रोड पर पाइप लाइन बिछाने के बाद जलनिगम ने गड्ढा करके छोड़ दिया था। जिसे ईंटें बिछाकर भरा गया। अब यह लोगों के लिए मुसीबत का सबब बन गया है। यही हाल देवकली-सरोज चौराहे का है। इस मार्ग पर चलना दूभर हो गया है। जलनिकासी की व्यवस्था न होने के कारण शहरियों को बरसात में मुसीबत झेलनी पड़ेगी। पल्टन बाजार वार्ड में सुमित्रापुरी से गुजरने वाली सड़क की दशा भी बेहद खराब हो गई है।

आवास विकास परिषद से शहर के कपूर चौराहे से लेकर विक्रम तिराहे तक और पुलिस अधीक्षक आवास से लेकर आजाद नगर तक जाने वाली सड़क के निर्माण का कार्य ढाई साल पहले स्वीकृत हुआ था। इसका आवास विकास परिषद से टेंडर भी हो चुका है। लोग धरना प्रदर्शन के साथ ही मामले को लेकर शिकायती पत्र भी अधिकारियों को दे चुके हैं। आवास विकास परिषद कार्यालय में बैठने वाले अफसरों को कार्यदायी संस्था की जानकारी तक नहीं है। आवास विकास परिषद के अधिकारियों की लापरवाही का खामियाजा शहरियों को भुगतना पड़ रहा है। इन सड़कों से 24 घंटे लोगों का आवागमन बना रहता है। गर्मी के दिनों में क्षतिग्रस्त सड़क पर जलभराव की समस्या देखने को मिलती है। अभी यह हाल है तो बरसात में शहरियों को अधिक मुसीबत का सामना करना पड़ेगा।

लोनिवि के अफसरों ने साधी चुप्पी

नया माल गोदाम रोड लोक निर्माण विभाग के अधीन है। इस सड़क की मरम्मत से लेकर नया निर्माण भी लोनिवि विभाग ही करा सकता है। प्रदर्शन के दिन उपजिलाधिकारी सदर और लोनिवि विभाग के एई पहुंचे थे। उन लोगों ने तत्काल राहत देने के लिए ईंट बिछवाने के साथ ही मार्ग की मरम्मत जल्द से जल्द कराने का वादा किया था। धरना प्रदर्शन को बीते एक माह से अधिक का समय बीत चुका है लेकिन अभी तक लोनिवि विभाग चुप्पी साधे हुए हैं। पहले नगर पालिका के अवस्थापना निधि से कराने पर विचार चल रहा था लेकिन लोनिवि ने एनओसी नही दी। जिसके चलते सड़क की दशा बेहतर नहीं हो सकी। अब फिर किसी दिन समस्या से जूझ रहे लोग आवाज बुलंद करेंगे। इसके बाद फिर अधिकारियों की कुंभकर्णी नींद खुलेगी।

सड़कें नहीं हो सकीं गड्ढामुक्त

प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आगमन को देखते हुए रातों रात कई सड़कों की मरम्मत कराई गई। जिन रूटों से मुख्यमंत्री को आना जाना था। उसकी पैचिंग से लेकर पेंटिंग तक करा दी गई। मोहल्ले के भीतर व दूसरे रास्तों की पैचिंग तक कराना विभाग ने बेहतर नहीं समझा। प्रदेश सरकार जहां सड़कों को गड्ढामुक्त बनाने का दावा कर रहा है। वहीं शहर में गड्ढामुक्त सड़कों की हकीकत किसी से छिपी नहीं है।

आवास विकास परिषद से नपा ने छोड़ी उम्मीदें

शहर की कई सड़कों का निर्माण आवास विकास परिषद को कराना है। सड़कों के निर्माण को लेकर काफी दिनों से शिकायती पत्र अधिकारियों को दिए जा रहे हैं। नगर पालिका अपनी बला छुड़ाने के लिए आवास विकास परिषद को नोटिस भेजती है। जिसका जवाब तक विभाग को वापस नहीं मिलता। ऐसे में सड़कों को लेकर पालिका ने आस छोड़ दी है। जल्द ही मामला जिलाधिकारी व प्रभारी मंत्री के सामने भी उठने वाला है।

शहर की सड़कों को गड्ढामुक्त बनाने के लिए स्टीमेट बनवाया गया है। दो सड़कें आवास विकास को बनवाना है। टेंडर होने के बाद भी निर्माण कार्य प्रारंभ नहीं हो रहा है। पालिका ने भी पत्र भेजा है। नया माल गोदाम रोड लोनिवि को बनवाना है।

अवधेश यादव, अधिशाषी अधिकारी, नगर पालिका।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/DD12qAAA

📲 Get Pratapgarh News on Whatsapp 💬