[pratapgarh] - दूसरे दिन भी पटरी पर नहीं लौटी संचार सेवा

  |   Pratapgarhnews

दूरसंचार कार्यालय में आग लगने से हुए नुकसान व संचार सेवा पटरी पर लाने के लिए महाप्रबंधक इंजीनियरों की टीम के साथ दहिलामऊ पहुंचे। ढाई लाख उपभोक्ताओं का अपनों से दूसरे दिन भी कनेक्शन कटा रहा।

आग कैसे लगी और उससे कितना नुकसान हुआ, इसका जायजा लेने के बाद संचार सेवा को शुरू कराने की कवायद में इंजीनियरों को लगाया।

दूरसंचार कार्यालय में शनिवार की सुबह शार्ट सर्किट के कारण एसी ब्लास्ट हो गया था। जिससे ट्रांसमिशन स्विच रूम में आग लग गई। पांच घंटे तक आग बुझाने में फायरब्रिगेड के कर्मचारियों को को पसीने से तरबतर होना पड़ा। प्रारंभिक तौर पर बीएसएनएल के अधिकारी स्विच रूम पूरी तरह जलने की बात बता रहे थे। आग लगने के बाद से ही पूरे जिले की संचार सेवा ठप हो गई थी। जो दूसरे दिन भी बहाल नहीं हो सकी।

संचार सेवा फिर से बहाल कराने के लिए दूर संचार के महाप्रबंधक एके मिश्रा भी इंजीनियरों की टीम के साथ पहुंचे। इसके अलावा टीडीएम रायबरेली, मंडल अभियंता लक्ष्मीकांत आग लगने से हुए नुकसान का जायजा लेते रहे। इस बीच उप जिलाधिकारी सदर एसपी सिंह भी मौके पर पहुंचे। एसडीएम अधिकारियों से नुकसान की जानकारी लेने लगे लेकिन कोई सही जवाब नहीं दे रहा था।

आग लगने से हुई घटना के बाद प्रभावित संचार सेवा ने अधिकारियों व पुलिसकर्मियों को भी हैरान कर रखा है। दूसरे दिन भी ढाई लाख उपभोक्ता के सिम खिलौना बना रहे। महाप्रबंधक ने बताया कि आग से जितने नुकसान की आशंका जताई जा रही थी। उतनी क्षति नहीं हुई है। रायबरेली, लखनऊ व इलाहाबाद से सामान मंगाए जा रहे हैं। ताकि जल्द से जल्द जले उपकरणों को बदला जा सके। ताकि संचार सेवा बहाल होने में ज्यादा विलंब न हो सके।

दिन भर होती रही साफ-सफाई

दूर संचार कार्यालय के ट्रांसमिशन स्विच रूम में लगी आग से जलकर राख हुए मलबे को हटाने में कर्मचारी जुटे रहे। रविवार को अवकाश के बावजूद अफसर व कर्मचारी डटे हुए थे। मलबे को दिन भर बाहर निकाला जाता रही। जो उपकरण जल गए थे। उसे भी हटाने का सिलसिला सुबह से ही प्रारंभ हो गया था।

मलबा हटाने से पहले कराई गई वीडियोग्राफी

दूरसंचार कार्यालय में लगी आग से क्षतिग्रस्त उपकरणों व मलबों को हटाने के पहले विभाग की ओर से वीडियोग्राफी भी कराई गई। ताकि किसी भी किस्म की जांच होने पर उसका जवाब दिया जा सके। वीडियोग्राफी होने के बाद सफाई व्यवस्था प्रारंभ हो सकी।

बचे प्लेटों को सुरक्षित करते रहे कर्मचारी

आगजनी में जो भी उपकरण बच गए थे। उसे सुरक्षित करने में कर्मचारी लगे रहे। कंप्यूटर कक्ष में लगी प्लेटें बहुत सी खराब हो गईं थीं। कुछ प्लेटे बच गईं थी और आग से काला हो चुकी थी। जिसे कर्मचारी कब्जे में ले रहे थे।

पानी से खराब उपकरण सुखाने को लगाए गए पंखे

स्विच रूम में लगी आग बुझाने के लिए फायरब्रिगेड कर्मचारी जान पर जूझ गए थे। पानी की बौछारोें से लाइनों व मशीनों के भीतर पानी घुस गया था। साफ-सफाई के दौरान जिस उपकरण में पानी भरा मिला। उसे सुखाने के लिए पंखे लगवाए गए थे।

रुपये के लिए भटकते रहे लोग

दूर संचार कार्यालय में लगी आग का असर एटीएम, बैंक पर भी पड़ा। रविवार को भी एटीएम से रुपये निकालने के लिए लोग भटकते रहे। जिन बैंकों का बीएसएनएल से लिंक था। वहां रुपये नहीं मिल पा रहे थे। इससे लोगों को रुपये के लिए बराबर भटकना पड़ा। सोमवार को बैंक समेत दूसरे संस्थान खुलेंगे। जिससे लोगों को सर्वर फेल होने के कारण दिक्कत का सामना करना पड़ सकता है।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/m2pa3gAA

📲 Get Pratapgarh News on Whatsapp 💬