[rudraprayag] - अब, पब्लिक एड्रस सिस्टम से होगी पैदल यात्रा की मॉनीटरिंग

  |   Rudraprayagnews

रुद्रप्रयाग।केदारनाथ जाने वाले श्रद्धालुओं पर अब प्रशासन की पैनी नजर रहेगी। यात्रा पड़ाव में श्रद्धालुओं की किसी भी तरह की समस्या को तुरंत हल करने के लिए पब्लिक एड्रस सिस्टम (पीएएस) तैयार किया गया है। रविवार को जिलाधिकारी ने इस सेवा का शुभारंभ कर कार्यालय से ही भीमबली का जायजा भी लिया। केदारनाथ यात्रा में इस बार पब्लिक एड्रस सिस्टम श्रद्धालुओं के लिए मददगार होगा। इस सेवा से जहां प्रशासन यात्रियों पर नजर रख सकेगा, वहीं यात्री भी अपनी समस्या आसानी से प्रशासन तक पहुंचा सकेंगे। बीते वर्षों तक जहां घोड़ा-खच्चरों पर चिप लगाकर पूरे मार्ग में उनकी कंट्रोल रूम के जरिए लोकेशन देखी जा रही थी, वहीं, इस वर्ष पीएएस की मदद से पूरे पैदल मार्ग पर आम श्रद्धालुओं पर भी नजर रखी जा सकेगी। साथ ही मौसम व अन्य जरूरी संदेश भी प्रसारित होते रहेंगे। इस प्रणाली के तहत केदारनाथ से गौरीकुंड तक पड़ावों पर वायरलेस स्पीकर लगाए गए हैं। इन स्पीकर को जिला आपदा कंट्रोल रूम से जोड़ दिया गया है। कंट्रोल रूम से मौसम या अन्य प्रकार की सूचना भी इन वायरलेस स्पीकर के जरिए सभी पड़ावों पर मिल सकेगी। यात्रा पड़ावों पर रखे जाने वाले सिप फोन सेट के जरिए यात्री अपना फीडबैक भी प्रशासन तक पहुंचा सकेंगे। इस पूरे सिस्टम की डीएम अपने कार्यालय से सिप फोन के जरिए मॉनीटरिंग कर सकेंगे। रविवार को पीएएस का शुभारंभ करते हुए डीएम मंगेश घिल्डियाल ने कार्यालय से ही भीमबली पड़ाव का जायजा भी लिया। जिला विज्ञान सूचना केंद्र के प्रभारी संजय नेगी ने बताया कि पीएएस के जरिए यात्रा के संचालन में आसानी होगी। साथ ही जरूरतमंदों को त्वरित मदद पहुंचाई जा सकेगी। सोनप्रयाग और भीमबली में दो-दो वायरलेस स्पीकर लगाए गए है।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/96qrFwAA

📲 Get Rudraprayag News on Whatsapp 💬