[varanasi] - दहका सूरज, पारा 43 के पार

  |   Varanasinews

वाराणसी। चिलचिलाती धूप के बीच गर्म हवाओं ने रविवार को पूरे दिन आम जनजीवन की मुश्किलें बढ़ाईं। अधिकतम तापमान के 43 डिग्री सेल्सियस के पार जाते ही लोग गर्मी-उमस से बेहाल हो गए। दिन में दस बजे के बाद ही घरों से निकलना दूभर हो गया। दोपहर होने तक सड़कें खाली हो गईं। भीड़ भरे बाजारों में भी इक्का-दुक्का लोगों की आवाजाही के बीच सन्नाटा पसर गया। शाम ढलने के बाद भी गर्म हवाओं ने उमस बढ़ाई। इस दिन अधिकतम तापमान 43.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो इस सीजन में अब तक का सर्वाधिक है। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक तापमान में अभी और बढ़ोतरी के साथ लू की लपट भी तेज होगी।आंधी-बारिश के चलते पिछले कुछ दिनों से तापमान में गिरावट आई थी। अधिकतम तापमान 37 से 40 डिग्री सेल्सियस के बीच आ गया था लेकिन रविवार को मौसम ने फिर तीखे तेवर दिखाए। दिन चढ़ने के साथ धूप तीखी होती गई। चौबीस घंटे के अंदर अधिकतम तापमान में साढ़े तीन डिग्री सेल्सियस के उछाल ने जनजीवन को बेहाल कर दिया।मौसम कार्यालय के अनुसार रविवार को अधिकतम तापमान 43.5 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान 26.4 डिग्री रहा। 14 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से उत्तर पश्चिमी हवाएं बह रही थीं। शनिवार को अधिकतम तापमान 40 और न्यूनतम 26 डिग्री था। मौसम विज्ञानी प्रो. बीआरडी गुप्ता ने बताया कि गर्म हवाओं के साथ अभी अधिकतम तापमान में और बढ़ोतरी हो सकती है। ऐसे मौसम में आंधी की आशंका बनी रहती है। पिछले दस सालों की बात करें तो मई महीने का औसत तापमान 40 डिग्री ही रहा है लेकिन रविवार से यह 40 के ऊपर पहुंच गया है।अस्पतालों में अलर्ट, बेड सुरक्षिततापमान में तेज उतार-चढ़ाव के चलते मौसमी बीमारियों की आशंका बढ़ गई है। गर्म हवाओं का दौर शुरू होने से डायरिया के साथ ही हीट स्ट्रोक के मरीज भी अस्पताल पहुंच रहे हैं। हालात को देखते हुए सीएमओ डॉ. वीबी सिंह ने सभी अस्पतालों को अलर्ट कर दिया है। मंडलीय अस्पताल कबीरचौरा, दीनदयाल अस्पताल, रामनगर अस्पताल में अलग डायरिया वार्ड बनाकर दस-दस बेड सुरक्षित करा दिए गए हैं। दवा, इलाज की समुचित व्यवस्था चौबीस घंटे सुनिश्चित करने की ताकीद की है।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/HJh6jAAA

📲 Get Varanasi News on Whatsapp 💬