[lucknow] - UP: सीतापुर में कुत्तों के हमले से फिर एक बच्ची की मौत, बेकाबू हुए ग्रामीण

  |   Lucknownews

आदमखोर कुत्तों पर अंकुश लगाने में प्रशासन पूरी तरह से फेल साबित हो रहा है। दो दिन पहले सीतापुर दौरे पर आए सीएम योगी आदित्यनाथ ने आदमखोर कुत्तों के आतंक के खात्मे के आदेश दिए थे। मगर इस आदेश का कोई असर नहीं दिखा।

रविवार को खैराबाद थाना क्षेत्र में आदमखोर कुत्तों ने एक बालिका पर हमला बोलकर उसे निवाला बना लिया। इसकी खबर आसपास के इलाकों में फैली तो आक्रोशित सैकड़ों ग्रामीण लाठी-डंडे लेकर मौके पर पहुंच गए।

इसके बाद बालिका का शव उठाकर सीधे लखनऊ-सीतापुर हाई-वे पर पहुंचे और वहां शव रखकर प्रदर्शन किया। इस पर पुलिस ने लाठीचार्ज कर प्रदर्शनकारियों को खदेड़ने के साथ ही कई लोगों को हिरासत में ले लिया। लाठीचार्ज से गुस्साए ग्रामीणों और पुलिस में जमकर पथराव भी हुआ।

स्थिति तनावपूर्ण देख कई थानों की पुलिस व पीएसी को मौके पर बुला लिया गया। इस दौरान हंगामे को लेकर नगर विधायक राकेश राठौर व पुलिस के बीच कहासुनी भी हुई। इस घटना के चलते आदमखोर कुत्तों के हमलों में जान गंवाने वाले बच्चों की संख्या 12 से बढ़कर 13 हो गई है।

खैराबाद थाना क्षेत्र के ग्राम महेशपुर चिलवारा निवासी छंगा की पुत्री रीना (12) रविवार को गांव के बाहर खेतों में गेहूं की बालियां बीनने गई थी। इसी बीच आदमखोर कुत्तों का झुंड वहां पहुंच गया।

इससे पहले कि रीना कुछ समझ पाती, कुत्तों के झुंड ने उस पर हमला बोल दिया। रीना की चीख सुनकर गांव के लोग लाठी-डंडे लेकर घटनास्थल की तरफ दौड़े और कुत्तों को खदेड़ा। मगर तब तक कुत्तों के हमले में रीना की मौत हो चुकी थी।

बालिका की मौत की खबर जैसे ही गांव व आसपास के क्षेत्र में फैली, सैकड़ों ग्रामीण महेशपुर गांव पहुंच गए और प्रदर्शन करने लगे। पुलिस ने शव कब्जे में लेने का प्रयास किया, तो ग्रामीण भड़क गए। इसके बाद गांव के लोग शव लेकर प्रदर्शन करते हुए हाई-वे की तरफ चल दिए।

रास्ते में पुलिस ने कई बार शव कब्जे में लेने का प्रयास किया, लेकिन ग्रामीणों ने प्रशासन पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए शव देने से इंकार कर दिया। ग्रामीणों ने खैराबाद थाना क्षेत्र में धनीपुर के पास सीएमओ कार्यालय के सामने हाई-वे पर शव रखकर जाम लगा दिया और प्रदर्शन करने लगे।

इसकी सूचना मिलते ही एसपी आनंद कुलकर्णी, एडीएम विनय पाठक, सिटी मजिस्ट्रेट हर्षदेव पांडेय, एएसपी मधुबन सिंह व महेंद्र प्रताप चौहान, सीओ योगेंद्र सिंह शहर कोतवाली, खैराबाद, मछरेहटा, तालगांव, मानपुर, कमलापुर आदि थानों की पुलिस व पीएसी के साथ मौके पर पहुंचे।

वहां जाम हटाने को लेकर प्रदर्शनकारियों व पुलिस के बीच झड़प हो गई। इस पर पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया। भगदड़ मची तो पुलिस ने बालिका का शव कब्जे में ले लिया। वहीं, लाठीचार्ज से ग्रामीण भड़क गए और पथराव शुरू कर दिया। करीब पौन घंटे तक हाई-वे पर अफरातफरी का माहौल रहा।

पुलिस ने कई प्रदर्शनकारियों को हिरासत में भी लिया है। जिन्हें शहर कोतवाली ले जाया गया। वहीं कड़ी सुरक्षा के बीच बालिका का शव पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया। उधर, घटना की जानकारी पाकर मौके पर पहुंचे सदर विधायक राकेश राठौर ने लाठीचार्ज को लेकर नाराजगी जताई और पीड़ित परिवारों व ग्रामीणों से सहानुभूति पूर्वक बातचीत करने को कहा। इसको लेकर उनकी पुलिसकर्मियों से कहासुनी भी हो गई।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/ro5xowAA

📲 Get Lucknow News on Whatsapp 💬