[meerut] - एक मेसेज पर एक्टिव होता था गैंग

  |   Meerutnews

मेरठ। एक मेसेज वायरल होने पर यह गैंग एक्टिव होता था। दो अप्रैल को एक मेसेज पर कई जनपदों में बवाल हुआ था। ठीक इसी तरह से फिर से बवाल की साजिश थी। एडीजी जोन का कहना है कि गिरफ्तार आरोपी बसपा नेता योगेश वर्मा और भीम आर्मी के चंद्रशेखर उर्फ रावण के संपर्क में थे या नहीं, इसका खुलासा जांच पड़ताल के बाद होगा। आरोपियों से अभी ज्यादा पूछताछ नहीं हुई है। उनको रिमांड पर लिया जाएगा। एक मेसेज 24 ग्रुपों में एक साथ वायरल होता था, जिसे 3600 लोग चंद मिनटों में पढ़ते थे। गोपनीय एजेंसियों ने दी सूचना वेस्ट यूपी में गहरी साजिश चल रही है, इसकी सूचना गोपनीय एजेंसियां ने एडीजी और आईजी मेरठ को दी थी। जिसके बाद पुलिस एक्टिव हुई। कई संदिग्ध लोगों के मोबाइल लिसनिंग पर लगाए। एसपी देहात राजेश कुमार और सीओ सदर देहात जितेंद्र कुमार ने टीम बनाकर दीपक और राहुल को पकड़ा। पूछताछ में यह खुलासा हुआ। एएसपी कैंट सतपाल सिंह, क्राइम ब्रांच प्रभारी जयवीर सिंह ने अपनी टीम लगाकर कई जगहों पर दबिश दी और चार आरोपियों को पकड़ा।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/sgOvdQAA

📲 Get Meerut News on Whatsapp 💬