[mirzapur] - सूखा राहत पीड़ितों को मिला खाद्य सामग्री

  |   Mirzapurnews

मड़िहान। विकास खंड पटेहरा मुख्यालय पर कैंप लगाकर मड़िहान तहसील में सूखे से प्रभावित गांव के पीड़ितों को खाद्य सामग्री का राहत पैकेज वितरण किया गया। गत्ते में घटिया सामग्री देख विधायक रमाशंकर पटेल ने कड़ी नाराजगी जताई। उन्होंने कहा कि ब्रांडेड तेल व घी सलोनी की जगह नेचर फिट का तेल और घी गरीबों को दिया जा रहा है। अपर जिलाधिकारी वित्त व राजस्व राजित राम प्रजापति को ठेकेदार के खिलाफ कार्रवाई करने को कहा। मड़िहान तहसील में 53 गांव में सूखे से पीड़ित गरीबों को जीवन यापन के लिए सरकार द्वारा खाद्य सामग्री का वितरण किया जाना था। रविवार को पटेहरा क्षेत्र के तुलसीपुर व अमोई गांव में 265 लोगों को सूखा राहत सामग्री बांटी गयी। वितरण सामग्री में 25 किलो आलू, 15 किलो आटा, पांच किलो चना की दाल, तीन लीटर सरसों तेल, एक किलो देसी घी, एक किलो मिल्क पाउडर तथा एक किलो नमक का वितरण किया गया। एसडीएम मड़िहान सविता यादव ने बताया की पटेहरा विकासखंड के 2558 अंत्योदय परिवार को सूखा राहत सामग्री का पैकेज और आलू का वितरण इसी महीने में दो बार किया जाएगा। यह पैकेट केवल 15 दिनों के लिए सरकार ने दिया है। तहसील द्वारा 53 राजस्व ग्राम केवल रवी फसल में सूखा घोषित किया गया है। इस दौरान तहसीलदार रामजीत मौर्य, राजस्व निरीक्षक विजयकांत पांडेय, सहायक विकास अधिकारी पंचायत अशोक दुबे व क्षेत्रीय लेखपाल आदि ग्रामप्रधान मौजूद रहे। सूखा राहत पैकेट वितरण के दौरान दुर्व्यवस्थाओं का बोलबाला रहा। खाद्य सामग्री वितरण में आलम यह था कि चिलचिलाती धूप में बिना पानी के महिलाओं के चेहरे मुरझा गए। पानी की तलाश में लोग व्याकुल दिखे। भीड़ के लिए पानी का कोई इंतजाम नही था। उबलते टंकी का पानी गले के नीचे नहीं उतर रहा था। भीड़ के लोग स्थानीय अधिकारियों कर्मचारियों को कोष रहे थे। एसडीएम मड़िहान सविता यादव के पहुंचने पर बैठने की व्यवस्था तो की गई किंतु पानी के लिए छटपटाते रहे।

यहां पढें पूरी खबर— - http://v.duta.us/ZkzfPgAA

📲 Get Mirzapur News on Whatsapp 💬